Monday , October 23 2017
Home / Uttar Pradesh / रियासत की ख़वातीन को फ्री ड्राइविंग लाइसेंस

रियासत की ख़वातीन को फ्री ड्राइविंग लाइसेंस

रियासत की ख़वातीन को फ्री में ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाएगा। रियासती हुकूमत ने खातून और गाड़ी चलाने के फी ख़वातीन को प्रोत्साहित करने के लिए यह फैसला किया है। वजीरे आला रघुवर दास की इस बारे में की गई एलान पर कार्रवाई शुरू हो गई है। इस

रियासत की ख़वातीन को फ्री में ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाएगा। रियासती हुकूमत ने खातून और गाड़ी चलाने के फी ख़वातीन को प्रोत्साहित करने के लिए यह फैसला किया है। वजीरे आला रघुवर दास की इस बारे में की गई एलान पर कार्रवाई शुरू हो गई है। इस तजवीज को मंजूरी के लिए फाइनेंस महकमा के पास भेजा गया है।

तजवीज के मुताबिक लाइसेंस का दरख्वास्त देने के बाद ख़वातीन को ड्राइविंग टेस्ट देना पड़ेगा। अभी लाइट मोटर वेह्किल (एलएमवी ) लाइसेंस के लिए असल तौर से तकरीबन एक हजार रुपए खर्च करने होते हैं। फिर इधर-उधर के खर्च को मिला कर यह दो हजार रुपए तक पहुंच जाता है।

एसेम्बली के बजट सेशन में वजीरे आला रघुवर दास ने ख़वातीन में खुद की रोजगार की मक़्स्द और अपने काबलियत बढ़ाने के लिए फ्री ड्राइविंग लाइसेंस देने की एलान की थी। वजीरे आला अभी डीटीओ महकमा के इंचार्ज वज़ीर भी हैं, इसलिए उन्होंने महकमा के इस प्रपोज़ल पर अपनी मंजूरी दे दी है। कानूनी महकमा ने भी हरी झंडी दिखा दी है।

मौजूदा में ड्राइविंग लाइसेंस के लिए खातून दरख्वास्तगुज़ार की तादाद लिमिट है, इसलिए रियासत हुकूमत को बहुत ज़्यादा आम्दानी की नुकसान नहीं होगी। फाइनेस महकमा की मंजूरी के बाद कैबिनेट की मंजूरी भी ली जाएगी। इससे आदिवासी और गरीब खातून को बड़ी मदद मिलेगी।

इधर स्कूटी का चलन बढ़ गया है। इसलिए मौजूदा में पूरे रियासत में खातून के तकरीबन १२ हजार ड्राइविंग लाइसेंस हर साल बन रहे हैं। महकमा के अदाद के मुताबिक झारखंड में अभी 80 हजार खातून के पास ड्राइविंग लाइसेंस है।

TOPPOPULARRECENT