Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / रियासत के 10 बाअसर शख़्सियतों में जगन मोहन रेड्डी सर-ए-फ़हरिस्त

रियासत के 10 बाअसर शख़्सियतों में जगन मोहन रेड्डी सर-ए-फ़हरिस्त

हैदराबाद 24 अप्रैल: इंडिया टूडे के ताज़ा शुमारे में रियासत के 10 असर-ओ-रसूख़ रखने वाली शख़्सियतों में सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी सर-ए-फ़हरिस्त हैं।

हैदराबाद 24 अप्रैल: इंडिया टूडे के ताज़ा शुमारे में रियासत के 10 असर-ओ-रसूख़ रखने वाली शख़्सियतों में सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी सर-ए-फ़हरिस्त हैं।

उन के अलावा सदर टी आर एस के चन्द्रशेखर राव‌ और रियास्ती डी जी पी दिनेश रेड्डी वग़ैरा भी शामिल हैं। इंडिया टू डे ने अपने ताज़ा शुमारे (0 अप्रैल 2013 ई) में रियासत आंध्र प्रदेश के 10 बाअसर शख़्सियतों की फ़हरिस्त जारी की है जिस में पिछ्ले 332 दिन से जेल में रहने वाले सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी को सर-ए-फ़हरिस्त मुक़ाम हासिल हुआ है।

इंडिया टूडे ने अपने शुमारा में बताया कि 27 मेए 2012 से जगन मोहन रेड्डी हैदराबाद की चंचलगूड़ा जेल में क़ैद हैं। बावजूद इस के वो हुकूमत के लिए बहुत बड़ा सवालिया निशान बने हुए हैं।

जगन मोहन रेड्डी अवाम के दरमयान नहीं हैं। ताहम अरकान असेम्बली उन से मुतास्सिर होरहे हैं। जेल जाने तक मुख़्तलिफ़ मसाइल पर अवाम के दरमयान रहने वाले सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी का अवामी मक़बूल क़ाइदीन में शुमार होता है।

पिछ्ले शुमारे में भी इंडिया टूडे ने जगन मोहन रेड्डी जेल में होने के बावजूद रियासत आंध्र प्रदेश के बिशमोल मुल्क भर के अहम क़ाइदीन में इन का शुमार होने का तज़किरा किया था।

इस के अलावा इंडिया टूडे ने तेलंगाना के रूह रवां पिछ्ले 12 साल से अलैहदा तेलंगाना की तहरीक चलाने वाले सरबराह टी आर एस के चन्द्रशेखर राव‌ को भी अपने ताज़ा शुमारे में अहम मुक़ाम दिया है।

वो अवाम के लिए काबिल‍ ए‍ कुबूल क़ाइद होने के साथ अवाम और क़ाइदीन के लिए मुतास्सिरकूण शख़्सियत के हामिल हैं। अवाम में इन का असर-ओ-रसूख़ है।

दूसरी जमातों के कई अवामी मुंतख़ब नुमाइंदे उन की तरफ़ मुतवज्जा होरहे हैं। बाक़ी दूसरी शख़्सियतों में रियास्ती डी जी पी दिनेश रेड्डी, जी वे प्रसाद, बीवी आर मोहन रेड्डी, सी पारता सारथी, बुद्धा प्रसाद, डाक्टर जी सुरेंद्र राव‌, जी महेश बाबू और पी गोपी चंद फ़हरिस्त में शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT