Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / रियासत में आज से इंटरमीडिएट इमतेहान का आग़ाज़

रियासत में आज से इंटरमीडिएट इमतेहान का आग़ाज़

रियासत भर में इंटरमीडिएट इमतेहानात का 12 मार्च से आग़ाज़ होगा। इन इमतेहानात के इंतिहाई पुरअमन-ओ-शफ़्फ़ाफ़ अंदाज़ में इनइक़ाद को यक़ीनी बनाने इंतेज़ामात मुकम्मिल करलिए गए हैं।

रियासत भर में इंटरमीडिएट इमतेहानात का 12 मार्च से आग़ाज़ होगा। इन इमतेहानात के इंतिहाई पुरअमन-ओ-शफ़्फ़ाफ़ अंदाज़ में इनइक़ाद को यक़ीनी बनाने इंतेज़ामात मुकम्मिल करलिए गए हैं।

इमतेहानात जुमला 19,78,379 तलबा-ओ- तालिबात शिरकत करेंगे। इन में साल अव्वल जनरल वोकेशल तलबा-तालबात की तादाद 9,29,090 लाख और साल दोम जनरल-ओ-वोकेशनल तलबा-तालबात की तादाद 10,49,289 है।

आधर सिन्हा कमिशनर बोर्ड आफ़ इंटरमीडिएट और राम शंकर नायक सेक्रेटरी ने ये बात बताई और इमतेहानात के दौरान किसी बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई का इंतिबाह दिया और कहा कि नक़ल नवीसी का तदारुक करने 133 फ्लाइंग स्कॉट्स और 135 स्टिंग स्कॉट्स तशकील दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि इमतेहानी मराकज़ पर बर्क़ी की सरबराही पानी की फ़राहमी के अलावा तलबा को इमतेहानी मराकिज़ तक पहुंचने के लिए आर टी सी बसें की हिदायात दी गई हैं।

आला ओहदेदारों को मुक़र्रर किया जा रहा है। नायक ने बताया कि इस मर्तबा तलबा के लिए इमतेहानी मर्कज़ में दाख़िल होने वक़्त मुक़र्रर किया गया।

तलबा-ओ-तालिबात को चाहीए कि वो मर्कज़ पर ठीक 8.30 बजे हाज़िर रहीं और 15 मिनट की ताख़ीर से पहुंचने वालों को दाख़िला की रियायत दी जाएगी लेकिन नौ के बाद एक मिनट भी ताख़ीर से किसी को दाख़िल होने की इजाज़त नहीं दी जाएगी इमतेहानात के लिए क़वानीन पर सख़्ती से अमल आवरी की जा रही है।

नायक ने बताया कि इमतेहानी डयूटी अंजाम देने वाले असातिज़ा-ओ-लेक्चररस को इमतेहानी मर्कज़ में सेलफोन ले जाने की इजाज़त नहीं दी जाएगी और तलबा-ओ-तालिबात से ख़ाहिश की के वो सिवाए पयाड पेन के दुसरि अशीया बालहसूस सेलफोन ना लाएंगे।

उन्होंने बताया कि 28 मार्च से पर्चों की जांच के काम का आग़ाज़ किया जाएगा और जल्द अज़ जल्द इमतेहानी नताइज का एलान किया जाएगा। इस सवाल पर कि आया तेलंगाना तलबा-ए-के इमतेहानी पर्चों की जांच तेलंगाना लेक्चररस से करवाए जाऐंगे कहा कि इस सिलसिले में इक़दामात किए जाऐंगे। उन्होंने कहा कि इमतेहानात के लिए रियासत में जुमला 2661 इमतेहानी मराकज़ क़ायम किए गए हैं।

TOPPOPULARRECENT