Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / रियासत में डेंगू की वबा(बिमारी) नीलोफर हॉस्पिटल में मरीज़ों की कसरत

रियासत में डेंगू की वबा(बिमारी) नीलोफर हॉस्पिटल में मरीज़ों की कसरत

हैदराबाद और रंगा रेड्डी में बच्चों का सिर्फ एक बड़ा दवाख़ाना नीलोफर है जहां हर रोज़ ना सिर्फ इन दोनों अज़ला बल्कि दीगर अज़ला से भी बच्चों को ईलाज के लिये मुंतक़िल किया जाता है । हुज़ूर निज़ाम नवाब मीर उसमान अली ख़ां की बहू नीलोफर

हैदराबाद और रंगा रेड्डी में बच्चों का सिर्फ एक बड़ा दवाख़ाना नीलोफर है जहां हर रोज़ ना सिर्फ इन दोनों अज़ला बल्कि दीगर अज़ला से भी बच्चों को ईलाज के लिये मुंतक़िल किया जाता है । हुज़ूर निज़ाम नवाब मीर उसमान अली ख़ां की बहू नीलोफर ख़ानम सुलताना से मौसूम इस हॉस्पिटल को एशिया-ए-में बच्चों के गिने चुने बड़े हॉस्पिटलों में शामिल रहने का एज़ाज़ हासिल है ।

बताया जाता है कि हॉस्पिटल के क़ियाम में नवाब मह्दी नवाज़ जंग ने अहम रोल अदा किया था । लेकिन अफ़सोस के आज इस हॉस्पिटल में मरीज़ों की गुंजाइश से कहीं ज़्यादा मरीज़ों को भर्ती किया जाता है ।

अवाम के ख़्याल में हुकूमत और रियासती वज़ारत-ए-सेहत को चाहीए कि बच्चों के इस मुनफ़रिद हॉस्पिटल में बिस्तरों की तादाद में इज़ाफ़ा करे और दूर दराज़ से आने वाले मरीज़ों के रिश्तेदारों के रहने के लिये माक़ूल बंद-ओ-बस्त किया जाय ।ज़राए के मुताबिक़ इंतिज़ामीया की लापरवाही के बाइस गुज़शता एक माह के दौरान नीलोफर हॉस्पिटल में तक़रीबन 25 बच्चों की मौत होगई ।

एक जानिब डॉक्टर्स मरीज़ों की मुम्किना ईलाज का दावा कर रहे हैं तो दूसरी जानिब मासूम मरीज़ों के वालदैन और रिश्तेदारों का कहना है कि उन्हें अपने बच्चों के ईलाज के लिये काफ़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है । यहां तक कि वो हॉस्पिटल के फुटपाथ पर सोने पर मजबूर हैं ।

वो यही जानते हैं कि इन के बच्चों की ज़िंदगियां बच जाएं । अवाम का कहना है कि रियासत के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर डेंगू की वबा(बिमारी)फैलने के बावजूद हुकूमत और सरकारी मिशनरियां इस जानिब कोई तवज्जा ही नहीं दे रही हैं ।

अज़ला में भी सरकारी हॉस्पिटल हैं वहां अगर डेंगू के ईलाज की सहूलतें मुहय्या की जाएं तो फिर मरीज़ हैदराबाद का रुख नहीं करेंगे । इस से ख़ुद डॉक्टर्स को और मरीज़ों के रिश्तेदारों दोनों को राहत मिलेगी ।

नीलोफर हॉस्पिटल में डेंगू से मुतास्सिरा जिन बच्चों को शरीक किया गया है इन में उसे बच्चे शामिल हैं जिन की उमरें 3 और 5 साल के दरमियान हैं ।।

TOPPOPULARRECENT