Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / रियासत में ला एंड आर्डर की सूरत-ए-हाल का मर्कज़ ने जायज़ा लिया

रियासत में ला एंड आर्डर की सूरत-ए-हाल का मर्कज़ ने जायज़ा लिया

नई दिल्ली 18 जनवरी : मर्कज़ी हुकूमत ने आज आला ओहदेदारों के साथ आंध्र प्रदेश में ला एंड आर्डर की सूरत-ए-हाल का जायज़ा लिया ।

नई दिल्ली 18 जनवरी : मर्कज़ी हुकूमत ने आज आला ओहदेदारों के साथ आंध्र प्रदेश में ला एंड आर्डर की सूरत-ए-हाल का जायज़ा लिया ।

मर्कज़ ने रियासती हुकूमत को ये हिदायत दी है कि अलैहदा रियासत तेलंगाना के क़ियाम के मुतालिबा पर किसी भी इमकानी फैसले के पेश नज़र अमन की बरक़रारी के लिए हर मुम्किना इक़दामात किए जाएं ।

ये इशारे मिले हैं कि मर्कज़ी हुकूमत की तरफ से तेलंगाना मसले पर जल्द ही कोई फैसला सुनाए जाने का इमकान है । मर्कज़ी हुकूमत ने पिछ्ले महीने 28 तारीख को अलैहदा तेलंगाना मसले पर एक कुल जमाती मीटिंग तलब किया था जिस में एलान किया गया था कि तेलंगाना मसले पर एक माह के अंदर अंदर फैसला करदिया जाएगा ।

अब जैसे जैसे ये मोहलत ख़त्म होने में आ रही है अवाम और सयासी जमातों में तजस्सुस बढ़ गया है और तेलंगाना की ताईद और मुख़ालिफ़त में भी सरगर्मियां बढ़ गई हैं।

मर्कज़ी मोतमिद दाख़िला आर के सिंह ने रियासत में सेक्यूरिटी की सूरत-ए-हाल का रियासत की चीफ सेक्रेटरी मनी मैथ्यू और डायरेक्टर जनरल पुलिस वे दिनेश रेड्डी के साथ मीटिंग में जायज़ा लिया ।

इंटेलिजेंस के सरबराह महेंद्र रेड्डी भी मौजूद थे । इस मीटिंग में तेलंगाना मसले के ताल्लुक़ से किसी भी तरह के फैसले के बाद पैदा होने वाली इमकानी सूरत-ए-हाल का जायज़ा लिया गया । किसी भी फैसले की सूरत में होने वाले असरात तवील मुद्दती और मुख़्तसर मुद्दती सब का जायज़ा लिया गया ।

सरकारी ज़राए ने ये बात बताई । मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला ने ये वाअदा भी किया है कि मर्कज़ की तरफ से इस हस्सास और अहम तरीन मसले पर फैसला के एलान के बाद पैदा होने वाली सूरत-ए-हाल से निमटने के लिए ज़रूरत पड़ने पर मर्कज़ी दस्तों की इज़ाफ़ी कंपनियां भी रवाना की जा सकती हैं।

28 दिसमबर को कुल जमाती मीटिंग के बाद वज़ीर दाख़िला सुशील कुमार शनदे ने एलान किया था कि मर्कज़ी हुकूमत तेलंगाना मसले पर अंदरून एक माह फैसला कर देगी ।

कुल जमाती मीटिंग में जिन आठ जमातों ने शिरकत की थी इन में कांग्रेस तेलुगु देशम तेलंगाना राष़्ट्रा समीति वाई एस आर कांग्रेस बी जे पी सी पी आई सी पी एम और मजलिस शामिल हैं।

तेलंगाना मसले पर डी जी पी और चीफ सैक्रेटरी के अलावा इंटेलिजेंस सरबराह की तलबी और सूरत-ए-हाल पर ग़ौर के पेश नज़र उन कयास आराईयों में इज़ाफ़ा होगया है कि हुकूमत तेलंगाना के ताल्लुक़ से मुवाफ़िक़ फैसला करने के इमकानात का जायज़ा ले रही है । तेलंगाना की हामी जमाअतें और तनज़ीमें हुकूमत पर दबाव‌ डालने के लिए अपने एहतेजाजी प्रोग्रामों का सिलसिला जारी रखी हुई हैं और इन में मज़ीद शिद्दत भी पैदा की जा रही है ।

उस को देखते हुए सीमा आंध् से ताल्लुक़ रखने वाले क़ाइदीन भी सरगर्म होगए हैं और वो किसी भी कीमत पर रियासत को मुत्तहिद रखने के हक़ में ज़ोर दे रहे हैं।

सीमा आंध् क़ाइदीन का एक मीटिंग आज मुनाक़िद हुआ था जिस में एक क़रारदाद मंज़ूर करते हुए रियासत को मुत्तहिद रखने पर ज़ोर दिया गया है । इस के आलावा ये भी फैसला किया गया है कि रियासत को मुत्तहिद रखने के मसले पर दिल्ली जाकर मर्कज़ी हुकूमत और कांग्रेस हाईकमान से नुमाइंदगी की जाएगी ।

सीमा आंध् क़ाइदीन ने ख़बरदार किया है कि मर्कज़ी हुकूमत की तरफ से अगर तेलंगाना रियासत का क़ियाम अमल में लाने का फैसला किया जाता है तो सारी रियासत में इस के ख़िलाफ़ एहतिजाज शुरू होजाएगा और उस की ज़िम्मेदारी हुकूमत पर आइद होगी।

TOPPOPULARRECENT