Tuesday , October 24 2017
Home / Business / रिज़र्व बैंक की CRR मैं मज़ीद कटौती का ऐलान

रिज़र्व बैंक की CRR मैं मज़ीद कटौती का ऐलान

रिज़र्व बैंक ने आज बैंक्स के कैश रिज़र्व रेश्यो मज़ीद कमी किए जाने का इशारा दिया ताकि बैंकिंग निज़ाम में पाई जाने वाली लीक़्वीडीटी को आसान तर बनाया जा सके लेकिन क़ानून लीक़्वीडीटी रेश्यो (SLR) में ये कहते हुए किसी भी कमी के इम्कान को मुस्तर

रिज़र्व बैंक ने आज बैंक्स के कैश रिज़र्व रेश्यो मज़ीद कमी किए जाने का इशारा दिया ताकि बैंकिंग निज़ाम में पाई जाने वाली लीक़्वीडीटी को आसान तर बनाया जा सके लेकिन क़ानून लीक़्वीडीटी रेश्यो (SLR) में ये कहते हुए किसी भी कमी के इम्कान को मुस्तर्द कर दिया कि ऐसा करने से कैश फ्लो में कोई इज़ाफ़ा नहीं होगा।

आर बी आई के डिप्टी गवर्नर सूबीज़ गोकारो ने एक तक़रीब में शिरकत के दौरान अख़बारी नुमाइंदों से बात करते हुए कहा कि बैंकिंग निज़ाम में CRR मैं मज़ीद कटौती की गुंजाइश मौजूद है क्योंकि मजमूई ख़सारे में भी कमी की पेश क़ियासी की जा रही है। मिस्टर गोकारो ने अलबत्ता SLR में कटौती के इम्कानात को ये कह कर मुस्तर्द कर दिया कि ऐसा करने से मौजूदा निज़ाम में ख़ातिरख्वाह तबदीली वाक़्य नहीं होगी क्योंकि इज़ाफ़ी रक़ूमात पहले ही मौजूद हैं।

अगर SLR को इसकी हदूद में ख़तम कर दिया गया तो फिर मज़ीद कमी करना मुम्किन है। बहरहाल ये कहना ज़्यादा बेहतर है कि फ़िलहाल हमारे पास तमाम मुतबादिल मौजूद हैं। याद रहे कि 24 जनवरी को आर बी आई ने सी आर आर में 0.5 फ़ीसद से 5.5 फ़ीसद तक कटौती की थी जिस के ज़रीया बैंकिंग निज़ाम में 32 हज़ार करोड़ रुपय से जारी किए गए थे लेकिन इसके बाद से अब तक फंड्स का बोहरान शदीद से शदीद तर होता गया।

गुज़श्ता जुमेरात को ही बैंकिंग निज़ाम पर 1.02 लाख करोड़ रुपय का बोझ आगया और आगे चल कर इस में इज़ाफ़ा में होने वाला है क्योंकि मार्च के महीने तक 15 कंपनीयां अपना एडवान्स टैक्स अदा करेंगी जिसके बाद बैंकिंग निज़ाम से 60 हज़ार करोड़ रुपये का बोझ कम हो जाएगा।

ओ एन जी सी के गुज़श्ता हफ़्ता हुए नीलाम से भी बैंक से 12 हज़ार करोड़ रुपये बाहर हो गए।

TOPPOPULARRECENT