Tuesday , October 24 2017
Home / India / रीटेलर्स को नजर अंदाज़ करना ग़लत, हुकूमत ग़ैर यक़ीनी कैफ़ीयत की ज़िम्मेदार

रीटेलर्स को नजर अंदाज़ करना ग़लत, हुकूमत ग़ैर यक़ीनी कैफ़ीयत की ज़िम्मेदार

नई दिल्ली, 04 दिसंबर (यू एन आई पी टी आई) हुकूमत पर अपने इक़दामात के ज़रीया सयासी ग़ैर यक़ीनी कैफ़ीयत पैदा कर देने का मौरिद इल्ज़ाम ठहराते हुए सीनीयर बी जे पी लीडर ईल के अडवानी ने आज रीटेल सैक्टर में एफडी आई की इजाज़त देने के फ़ैसले पर शदीद

नई दिल्ली, 04 दिसंबर (यू एन आई पी टी आई) हुकूमत पर अपने इक़दामात के ज़रीया सयासी ग़ैर यक़ीनी कैफ़ीयत पैदा कर देने का मौरिद इल्ज़ाम ठहराते हुए सीनीयर बी जे पी लीडर ईल के अडवानी ने आज रीटेल सैक्टर में एफडी आई की इजाज़त देने के फ़ैसले पर शदीद तन्क़ीद करते हुए कहा कि इन की पार्टी लाखों रीटेलर्स के वसीअ गोशे को नजरअंदाज़ नहीं कर सकती है।

यहां ऐच टी लीडरशिप सिमट से ख़िताब करते हुए बी जे पी लीडर ने कहा कि कोई भी पेश क़ियासी नहीं करसकता कि आया ये हुकूमत अपनी मुकम्मल मीयाद तक बरक़रार रहेगी या 2014-ए-से क़बल गिर् जाएगी क्योंकि कोई भी शख़्स इत्तिफ़ाक़ी तबदीलीयों के ताल्लुक़ से बात नहीं कर सकता है।

ये दुहराते हुए कि इन की पार्टी ने हमेशा ही रीटेल शोबे में एफडी आई की मुख़ालिफ़त की है, अडवानी ने कहा कि अपोज़ीशन को पार्लीमैंट मफ़लूज होजाने पर अफ़सोस है लेकिन उन्हें हुकूमत के फ़ैसले के वक़्त पर हैरत है।

बी जे पी पारलीमानी पार्टी के चेयरमैन अडवानी ने मल्टी ब्रांड ख़ूर्दा सैक्टर में ग़ैर मुल्की बराह-ए-रास्त सरमाया कारी की इजाज़त देने के तरक़्क़ी पसंद इत्तिहाद (यू पी ई) हुकूमत के फ़ैसले पर अफ़सोस का इज़हार किया है और कहा है कि इस से लाखों ताजिर बेरोज़गार होजाएंगी। अडवानी ने कहा कि इन की पार्टी ताजिर बिरादरी को नजरअंदाज़ नहीं कर सकती क्योंकि ताजिर बिरादरी पर बी जे पी की बुनियाद है।

उन्होंने कहा कि बी जे पी ने हमेशा रीटेल सैक्टर में ग़ैर मुल्की रास्त सरमाया कारी की मुख़ालिफ़त की है। उन्हों ने कहा में नहीं जानता कि हुकूमत ने ये जानते हुए भी कि ख़ूर्दा बाज़ार में ग़ैर मुल्की रास्त सरमाया कारी से ताजिर बिरादरी मुतास्सिर होगी, ऐसा फ़ैसला क्यों किया? उन्हों ने मज़ीद कहा कि ग़ैर मुल्की बराह-ए-रास्त सरमाया कारी से ये तास्सुर पेश करना कि इस से इफ़रात-ए-ज़र और बेरोज़गारी जैसे तमाम मसाइल हल होजाएंगी, अवाम को बेवक़ूफ़ बनाने के मुतरादिफ़ है।

अडवानी ने वाज़िह तौर पर कहा कि ये कहना ग़लत है कि मल्टी ब्रांड ख़ूर्दा बाज़ार में रास्त ग़ैर मुल्की सरमाया कारी से लाखों रोज़गार पैदा होंगी। उन्हों ने कहा कि ऐसा हो ही नहीं सकता। वाज़िह रहे कल हिंदुस्तान टाईम्स लीडरशिप सिमट से ही हुकूमत के तर्जुमान ने मल्टी ब्रांड ख़ूर्दा बाज़ार में ग़ैर मुल्की रास्त सरमाया कारी के फ़वाइद शुमार किराए थे और कहा था कि इस से किसानों और सारिफ़ीन दोनों को फ़ायदा होगा।

मज़ीद ये कि इस से इफ़रात-ए-ज़र में कमी आएगी, मईशत मज़बूत होगी और ज़रई शोबा की तजदीद कारी होगी। वाज़िह रहे कि पार्लीमैंट में कल नौवीं रोज़ भी इस मुआमले पर ज़बरदस्त हंगामा हुआ था। वज़ारत-ए-अज़मी पर पार्टी फ़ैसला करेगी सीनीयर बी जे पी लीडर मिस्टर ईल के अडवानी ने पार्टी के वज़ारत अज़मी उम्मीदवार होने के मसला को ज़िंदा करने का इशारा देते हुए कहा कि इस ताल्लुक़ से पार्टी फ़ैसला करसकती है ।

मिस्टर अडवानी ने इस सवाल पर कि आया वो हनूज़ वज़ारत अज़मी की ख़ाहिश रखते हैं उन्हों ने कहा कि वो सिर्फ इतना कह सकते हैं कि पार्टी इस ताल्लुक़ से फ़ैसला कर सकती है, वो फ़ैसला नहीं करती।

TOPPOPULARRECENT