Tuesday , October 17 2017
Home / Business / रीटेलर्स सनअती मौक़िफ़ के ख़ाहिश‌

रीटेलर्स सनअती मौक़िफ़ के ख़ाहिश‌

पहले बजट चिल्लर फ़रोशियों का हुकूमत से मांग‌ है कि उन्हें भी सनअती मौक़िफ़ का दर्जा दिया जाये कि चिल्लर फ़रोशी retailers भी कारोबारी का अहम हिस्सा हैं जिनकी आमदनी 2017 तक 47 खरब रुपये होजाएगी।

पहले बजट चिल्लर फ़रोशियों का हुकूमत से मांग‌ है कि उन्हें भी सनअती मौक़िफ़ का दर्जा दिया जाये कि चिल्लर फ़रोशी retailers भी कारोबारी का अहम हिस्सा हैं जिनकी आमदनी 2017 तक 47 खरब रुपये होजाएगी।

वुडलैंड मनिजिंग डायरैक्टर हरकिरत सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान की चिल्लर फ़रोश मार्किट 2017 तक 47 खरब रुपये का निशाना पूरा करलेगी और यही वो वक़्त जब हुकूमत इस हक़ीक़त से चश्मपोशी ना करते हुए चिल्लर फ़रोशी मार्किट को भी एक सनअत का दर्जा दे जिसका चिल्लर फ़रोशों को बेचैनी से इंतिज़ार है।

कर्त सिंह से मुत्तफ़िक़ होते हुए रीटेलर्स एसोसीएश‌ण आफ़ इंडिया के सी ई ओ कुमार राजगोपालन ने कहा कि हम हुकूमत से बहुत दिनों से ये मांग‌ करते आए हैं कि वो रीटेल सेक्टर को भी सनअत का मौक़िफ़ अता करे। हम हुकूमत से कई बार नुमाइंदगी करचुके हैं और ये बावर करवाने की कोशिश कर रहे हैं कि रीटेल सेक्टर का भी मुल्क की GDP में ख़ातिरख़वाह रोल है।

टाटा फ़र्म अनफ़ेनटी रीटेल सी ई ओ और एम डी अजीत जोशी ने भी कहा कि रीटेल सेक्टर को सरकारी तौर पर सनअत का मौक़िफ़ अता करने पर इस सेक्टर के लिए मुनाफा बख्श साबित होगा।

TOPPOPULARRECENT