Friday , October 20 2017
Home / Islami Duniya / रूस के कहने पर मैं बशारुल असद के साथ नहीं बैठ सकता

रूस के कहने पर मैं बशारुल असद के साथ नहीं बैठ सकता

तुर्की के सदर रजब तैयब इर्दूआन ने कहा है कि तुर्क फ़ौजी इराक़ीयों को तर्बीयत देने के लिए अशीक़ा कैंप बग़दाद के इल्म और मुतालिबे पर भेजे गए, ताहम उन्होंने “अल अर्बिया” को अपने ख़ुसूसी इंटरव्यू में इस अमर की वज़ाहत नहीं की कि इराक़ में मौजूद तुर्क फ़ौज को वापिस बुलवाया जा रहा है या नहीं?

उन्होंने कहा कि शुमाली इराक़ में तुर्क फ़ौज की मौजूदगी का तनाज़ा रूस की दरख़ास्त पर शाम, इराक़, रूस और ईरान के दरमयान तय पाने वाले चार मुल्की मुआहिदे के में तुर्की के इनकार के बाद पैदा हुआ।

“इराक़ और तुर्की के दरमयान ताल्लुक़ात अच्छे थे। इराक़ी वज़ीरे आज़म अल अबादी के दौरा तुर्की के मौक़ा पर हमने इराक़ में होने वाली पेशरफ़्त पर तफ़सीली तबादले ख़्याल किया।”

TOPPOPULARRECENT