Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / रेलवे इम्तिहान में ब्लूटूथ से नकल की थी तैयारी, चार गिरफ्तार

रेलवे इम्तिहान में ब्लूटूथ से नकल की थी तैयारी, चार गिरफ्तार

रेलवे की इम्तेहान में हाइटेक तरीके से नकल कर नौकरी दिलानेवाले गिरोह के चार लोगों को एसटीएफ ने पटना पुलिस की मदद से इतवार को गिरफ्तार कर लिया। चारों को पीरबहोर थाने के भिखना पहाड़ी वाक़ेय एक लॉजनुमा घर से पकड़ा गया।

रेलवे की इम्तेहान में हाइटेक तरीके से नकल कर नौकरी दिलानेवाले गिरोह के चार लोगों को एसटीएफ ने पटना पुलिस की मदद से इतवार को गिरफ्तार कर लिया। चारों को पीरबहोर थाने के भिखना पहाड़ी वाक़ेय एक लॉजनुमा घर से पकड़ा गया।

पकड़े गये लोगों में दो सेटर रोहतास के राज कुमार सिंह और दिनकर पांडे और दो तालिबे इल्म अजीत कुमार (रोहतास) और वरुण कुमार (कटिहार) हैं।

इनके पास से एसटीएफ ने 11 ब्लू टूथ, 16 कान में लगनेवाला स्पीकर, छह मोबाइल फोन, आठ सीम कार्ड, 23 माइक्रो बैटरी, नौ ओरिजिनल केर्टिफिकेट, 55 हजार रुपये और एक बाइक भी बरामद की है। चारों को पुलिस ने इतवार को रेलवे के ग्रुप डी की होनेवाली इम्तेहान के पहले ही गिरफ्तार कर लिया।

अजीत और वरुण इसी इम्तेहान में शामिल होनेवाले थे। दोनों से गिरोह के लोगों ने तीन लाख रुपये में इम्तेहान में नैया पार कराने का वादा किया था। एडवांस के तौर में दोनों से 25 हजार रुपये भी लिये गये थे। आइजी (ऑपरेशन) अमित कुमार ने बताया कि एसटीएफ को इत्तिला मिली कि मशरिकी सेंट्रल रेलवे के ग्रुप डी की इम्तेहान में ब्लूटूथ के सहारे नकल करानेवाले गिरोह पटना में सरगर्म हैं। इसके बाद इतवार की अहले सुबह भिखना पहाड़ी वाक़ेय एक लॉजनुमा मकान में छापेमारी की गयी।

छापेमारी के पहले ही 35 तालिबे इल्म निकल गये

पूछताछ में राज कुमार और दिनकर ने बताया कि पटना के बाहर इम्तेहान देनेवाले तकरीबन 30 से 35 तालिबे इल्म को छापेमारी होने के कई घंटे पहले ही हाइ टेक तरीके से लैस कर रवाना कर दिया गया। इन तमाम को इम्तेहान में बैठने के बाद उनके जिश्म में खुफिया तरीके से लगाये गये ब्लूटूथ के सहारे सवालों के जवाब लिखाये जाने हैं।

सवाल भी लीक करवाते हैं

पुलिस ने कहा कि गिरोह के सरगना मुकेश और संजय हैं। दोनों पकड़ में नहीं आये हैं। गिरोह अपनी पहुंच की ताकत पर इम्तेहान होने के पहले ही सवाल लीक करवा लेते हैं। इसके बाद इम्तेहान में बैठे तालिबे इल्म को ब्लूटूथ के सहारे जवाब लिखवाये जाते हैं। गिरोह में दर्जन भर से ज़्यादा सेंटर हैं। सेंटरों को पकड़ने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

TOPPOPULARRECENT