Saturday , October 21 2017
Home / India / रेलवे मुसाफ़िरऐन और इमलाक का तहफ़्फ़ुज़ अव्वलीन तर्जीह : त्रिवेदी

रेलवे मुसाफ़िरऐन और इमलाक का तहफ़्फ़ुज़ अव्वलीन तर्जीह : त्रिवेदी

आर पी एफ़ तरमीमी बिल की जहां बाअज़ रियास्तों की जानिब से मुख़ालिफ़त की जा रही है, वहीं वज़ीर रेलवे दीनेश त्रिवेदी ने एक अहम ब्यान देते हुए कहा कि मुजव्वज़ा आर पी एफ़ तरमीमी बिल को क़तईयत देने से क़ब्ल तमाम रियास्तों की राय का ख़्याल रखा जा

आर पी एफ़ तरमीमी बिल की जहां बाअज़ रियास्तों की जानिब से मुख़ालिफ़त की जा रही है, वहीं वज़ीर रेलवे दीनेश त्रिवेदी ने एक अहम ब्यान देते हुए कहा कि मुजव्वज़ा आर पी एफ़ तरमीमी बिल को क़तईयत देने से क़ब्ल तमाम रियास्तों की राय का ख़्याल रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि जब तक तमाम रियास्तों की मंज़ूरी हासिल नहीं की जाती उस वक़्त तक आर पी एफ़ के लिए कोई क़तई फ़ैसला नहीं किया जाएगा, लेकिन दूसरी तरफ़ उन्होंने ये भी वाज़िह कर दिया कि महकमा रेलवेज़ मुसाफ़िरों और इमलाक के तहफ़्फ़ुज़ के मुआमले को नजर अंदाज़ नहीं कर सकता।

यहां इस बात का तज़किरा भी ज़रूरी है कि क़ब्ल अज़ीं मिस्टर त्रिवेदी ने ये भी कहा था कि इस मुआमला में किसी भी एजेंसी को ज़िम्मेदारी और जवाबदेही का मौक़िफ़ अपनाना पड़ेगा। आर पी एफ़ बिल के तहत आर पी एफ़ पर्सनल को भी वही इख़्तेयारात का हासिल हो जाएंगे जो पुलिस अहलकारों को हासिल हैं, लेकिन हैरत अंगेज़ तौर पर बाअज़ गैरकांग्रेसी रियास्तों ने मुजव्वज़ा बिल की ये कह कर महकमा पुलिस का वफ़ाक़ी किरदार शदीद तौर पर मुतास्सिर होगा क्योंकि आर पी एफ़ को भी वही इख़्तेयारात हासिल हो जाएंगे जो पुलिस अहलकारों को हासिल हैं।

मिस्टर त्रिवेदी ने कहा था कि इसके लिए सबसे पहले तमाम रियास्तों को एतेमाद में लेना ज़रूरी है जिसके लिए उनसे बातचीत करना इंतिहाई ज़रूरी है। मेरा ख़्याल है कि इस बिल को पार्लीमेंट में भी पेश किया जा सकता है जहां इस पर मुबाहिसा भी मुतवक़्क़े है। क़ब्लअज़ीं तृणमूल कांग्रेस क़ाइद और रियास्ती वज़ीर बराए सयाहत सुलतान अहमद ने आर पी एफ़ मुजव्वज़ा बल के लिए एक अच्छी ख़ासी राह हमवार कर ली थी।

उन्हों ने कहा था कि हमें एक मुस्तहकम रेलवे प्रोटेक्शन फ़ोर्स (RPF) की ज़रूरत है क्योंकि रेलवे मुसाफ़िरऐन और रेलवे इमलाक की हिफ़ाज़त हमारी अव्वलीन तर्जीह है।

TOPPOPULARRECENT