Thursday , September 21 2017
Home / World / रैली के दौरान डोनाल्ड ट्रंप को गोली मारने पहुंचा 19 साल का लड़का, गिरफ्तार

रैली के दौरान डोनाल्ड ट्रंप को गोली मारने पहुंचा 19 साल का लड़का, गिरफ्तार

अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी से लगभग तय उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को एक ब्रिटिश युवक मार डालना चाहता था. शनिवार को लास वेगास में ट्रंप की एक रैली में सिक्योरिटी गार्ड से बंदूक छीनने की कोशिश में गिरफ्तार युवक से पूछताछ में यह खुलासा हुआ है.

गिरफ्तार किए गए 19 साल का युवक माइकल स्टीवन सैंडफोर्ड ब्रिटिश नागरिक है. कोर्ट में पेश किए गए दस्तावेज के आधार पर कहा जा रहा है कि सैंडफोर्ड ट्रंप को जान से मारने के लिए ही गार्ड से बंदूक छिन रहा है. उसे जल्द ही नेवादा कोर्ट में पेश किया जाएगा. इस मामले में 5 जुलाई को कोर्ट में सुनवाई होगी.

कोर्ट को दी गई जानकारी के मुताबिक सैंडफोर्ड शनिवार को ट्रेजर आइलैंड कसीनो में हुए डोनाल्ड ट्रंप की रैली में गया था. वहां वह एक सिक्योरिटी गार्ड के पास गया. उसने कहा कि वह डोनाल्ड ट्रंप से ऑटोग्राफ लेना चाहता है. गार्ड के हल्के ढीले पड़ते ही उसने बंदूक छीनने की कोशिश की. इसके बाद कई गार्ड्स ने मिलकर उसे गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने बताया कि सैंडफोर्ड के पास ब्रिटिश ड्राइविंग लाइसेंस है. वह करीब डेढ़ साल से अमेरिका में रह रहा है. सैंडफोर्ड पिछले एक साल से ट्रंप को मारने की योजना बना रहा था. शनिवार को उसने इसे अमली जामा पहनाने का फैसला किया. उसने बताया कि अब इस काम को करने के लिए हिम्मत जुटा ली गई थी.

सैंडफोर्ड ने बताया कि उसने पहले कभी भी फायरिंग नहीं की है. इसे सीखने के लिए वह 17 जून को लास वेगास के एक फायरिंग रेंज में गया था. पुलिस के मुताबिक उसे पता था कि वह केवल एक या दो राउंड ही फायर कर सकेगा. इस दौरान पुलिस वाले उसे मार देंगे, इसका अंदाजा भी उसने पहले ही लगा लिया था.

फिनीक्स रैली का भी लिया था टिकट
गिरफ्तारी के बाद सैंडफोर्ड ने बताया कि अगर वो लास वेगस की रैली में ट्रंप को मारने की कोशिश नहीं कर पाता तो वह फिनीक्स की रैली में यह कोशिश जरूर करता. उसने ट्रंप की फिनीक्स रैली में शामिल होने के लिए टिकट भी लिया हुआ था.

TOPPOPULARRECENT