Saturday , October 21 2017
Home / Islami Duniya / रोहिंग्या मुसलमानों के 1000 से अधिक घरों को जला दिया गया : मानवाधिकार संगठन

रोहिंग्या मुसलमानों के 1000 से अधिक घरों को जला दिया गया : मानवाधिकार संगठन

यंगून: म्यांमार (बर्मा) की राज्य अराकान (राखेन) में बौद्ध चरमपंथियों ने 10 से 18 नवंबर तक रोहिंग्या के मुसलमानों के पांच विभिन्न गांवों में 800 से अधिक मकानों को जला या नष्ट कर दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अल अरबिया डॉट नेट के अनुसार मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच (एच आर डब्ल्यू) ने सोमवार को जारी एक बयान में बुधमतों की उन ताजा नष्ट कारियों की सूचना दी है जबकि बर्मा के बारे में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि ने स्थिति काबू में लाने के लिए त्वरित कदम की मांग की है।
एच आर डब्ल्यू का कहना है कि हाल के सेटेलाईट चित्रों से पता चलता है कि ” जिन क्षतिग्रस्त मकानों का रिकार्ड जमा किया गया है, उनकी संख्या 1250 है। ” संगठन ने सेटेलाईट की चित्रों के माध्यम से जिले मूनगदा के पांच गांवों में क्षतिग्रस्त हुई 820 मकानों की पहचान की है और उनकी थोड़ी विवरण प्रदान की है।
ह्यूमन राइट्स वॉच के एशिया निदेशक ब्रैड एडम्स ने एक बयान में कहा है कि ” इन होश उड़ा देने वाली नए सेटेलाईट चित्रों से रोहिंग्या के गांवों में नष्ट कारियों की पुष्टि हुई है और इससे यह भी पता चलता है कि वहाँ सरकार के बताये गए स्थानों से कहीं अधिक स्थानों पर तबाही हुई है। ”
उन्होंने कहा कि रोहिंग्या के पांच गांवों में जाहिरा तौर पर ज्वलनशील पदार्थ से हमला एक बहुत गंभीर मामला है और म्यामार सरकार को इसकी जांच करने की जरूरत है। वह जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ मुक़दमे चलाए और उन्हें कानून के कटघरे में खड़ा करे. उनके उनुसार इस प्रकार की जांच को विश्वसनीय बनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र की भागीदारी भी जरूरी है। ”

TOPPOPULARRECENT