Monday , October 23 2017
Home / India / लड़कियों को छेड़छाड़ से बचाने वाले मोबाइल एप की शुरूआत ज्वाला गुट्टा से

लड़कियों को छेड़छाड़ से बचाने वाले मोबाइल एप की शुरूआत ज्वाला गुट्टा से

कानपुर पुलिस ने एक ऐसा मोबाइल एप 'एसओएस' तैयार किया है जिसमें मोबाइल का एक बटन दबाते ही पुलिस उस लड़की के पास पहुंच जायेंगी. मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुटटा कल शाम पुलिस कंट्रोल रूम में इस मोबाइल एप की शुरूआत की |

कानपुर पुलिस ने एक ऐसा मोबाइल एप ‘एसओएस’ तैयार किया है जिसमें मोबाइल का एक बटन दबाते ही पुलिस उस लड़की के पास पहुंच जायेंगी. मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुटटा कल शाम पुलिस कंट्रोल रूम में इस मोबाइल एप की शुरूआत की |

इस मौके पर ज्वाला ने कहा कि मुसीबत में फंसने पर लड़कियों के लिये यह सर्विस यकीनन काफी फायदेमंद साबित होगा और हम चाहेंगे कि यह खिदमात कानपुर के अलावा पूरे उत्तर प्रदेश और मुल्क मे फैले ताकि लड़कियों और ख्वातीन को मुसीबत के वक्त पुलिस की मदद मिल सकें|

उन्होंने कहा कि आज हर लड़की के हाथ में मोबाइल फोन होता है और वह किसी मुसीबत में फंसने पर इस मोबाइल एप की मदद से फौरन पुलिस की मदद पा सकती है|

इससे पहले कानपुर पुलिस के एसएसपी के एस ईमैनुएल ने इस मोबाइल एप यानी ‘एसओएस’ के बारे में बताते हुये कहा कि शहर में तालिबात और लड़कियों से मुसलसल छेड़छाड़ की बढ़ते वाकियात को रोकने के लिये कानपुर पुलिस ने एक ऐसा एप ‘एसओएस’ तैयार किया है जिसे अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करने करने के बाद लड़कियां और ख्वातीन किसी नौजवान की छेड़छाड़ से बच सकेंगी |

उन्होंने बताया कि किसी मुसीबत में फंसने पर लड़कियों को अपने एंड्रायड मोबाइल में यह एप एसओएस पुश करना होगा| इस एप के आन होते ही यह आटोमेटिक कंट्रोल रूम के राबिते में आ जायेगा| एप के ज़रिये से उस लड़की या खातून की लोकेशन ट्रेस कर ली जायेगी और मुताल्लिक थाने की डायल 100 कंट्रोल रूम गाड़ी उस मुकाम पर फौरन पहुंच जायेगी और छेड़छाड़ या परेशान करने वाले शख्स को दबोच लेगी|

TOPPOPULARRECENT