Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / लड़कों के मुक़ाबिल लड़कीयों की पैदाइश के तनासुब में कमी

लड़कों के मुक़ाबिल लड़कीयों की पैदाइश के तनासुब में कमी

हैदराबाद और रियासत के तमाम दूसरे मुक़ामात पर लड़कों के मुक़ाबिल लड़कीयों की पैदाइश का तनासुब घट रहा है। उस की बुनियादी वजह पैदाइश से क़ब्ल जिन्स मालूम करने के टेस्ट हैं। इस टेस्ट के ज़रीया ये मालूम होने के बाद लड़की पैदा होने वा

हैदराबाद और रियासत के तमाम दूसरे मुक़ामात पर लड़कों के मुक़ाबिल लड़कीयों की पैदाइश का तनासुब घट रहा है। उस की बुनियादी वजह पैदाइश से क़ब्ल जिन्स मालूम करने के टेस्ट हैं। इस टेस्ट के ज़रीया ये मालूम होने के बाद लड़की पैदा होने वाली है हमल साक़ित किए जाते हैं। ऐसे टेस्ट की रोक थाम के लिए सख़्त क़ानून बनाया गया है लेकिन ऐसे टेस्ट के सेंटर क़ायम हैं और उन के ख़िलाफ़ कोई मोस्सर कार्रवाई नहीं होरही है।

हैदराबाद पांचवां बड़ा शहर है यहां गुज़श्ता दस बरसों में लड़कीयों की पैदाइश का तनासुब लड़कों के मुक़ाबिल घट गया है। पहले एक हज़ार लड़कों के मुक़ाबिल पैदा हुई लड़कीयों की तादाद अगर 943 थी तो अब ये घट कर 948 होगई।रियासत भर में 2001 में एक हज़ार लड़कों के मुक़ाबिल 961 लड़कीयों की पैदाइश का तनासुब था।

अब ये घट कर एक हज़ार के मुक़ाबिल 943 रह गया। ज़िला वरंगल में 2001-में एक हज़ार लड़कों के मुक़ाबिल 955 लड़कीयों का तनासुब था जो अब घट कर एक हज़ार लड़कों के मुक़ाबिल 914 रह गया।

TOPPOPULARRECENT