Sunday , October 22 2017
Home / World / लाखों शामी बाशिन्दों को फ़ाक़ों का सामना

लाखों शामी बाशिन्दों को फ़ाक़ों का सामना

अक़वामे मुत्तहिदा का कहना है कि गुज़िश्ता 22 माँह की ख़ानाजंगी की वजह से कोई दस लाख अफ़राद ना सिर्फ़ मजबूरी और लाचारी की ज़िंदगी बसर कर रहे हैं, बल्कि उन्हें फ़ाक़ों का सामना है। आलमी ख़ुराक के प्रोग्राम का कहना है कि वो पंद्रह लाख

अक़वामे मुत्तहिदा का कहना है कि गुज़िश्ता 22 माँह की ख़ानाजंगी की वजह से कोई दस लाख अफ़राद ना सिर्फ़ मजबूरी और लाचारी की ज़िंदगी बसर कर रहे हैं, बल्कि उन्हें फ़ाक़ों का सामना है। आलमी ख़ुराक के प्रोग्राम का कहना है कि वो पंद्रह लाख शामी बाशिन्दों को ख़ुराक फ़राहम कर रहा है। मगर उसे ख़ुराक की तक़सीम में बहुत दुशवारी का सामना है।

तर्जुमान एलीज़ाबेथ बाएर्ज का कहना था कि 2012 के एख़तेतामी महीनों में ख़ुराक का सामान ले जाने वाले ट्रकों को भी निशाना बनाया जाने लगा था। इस दौरान अक़वामे मुत्तहिदा के इदारा बराए पनाह गुज़ीन ने बताया है कि पनाह गुज़ीनों की आमद में यकायक इज़ाफ़ा हुआ है और सिर्फ़ गुज़िश्ता माँह ही में शाम के मुख़्तलिफ़ शहरों से एक लाख अफ़रद लड़ाई से बच कर भागे हैं।

TOPPOPULARRECENT