Tuesday , October 24 2017
Home / Islami Duniya / लाल मस्जिद पर हमला: मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज होगा

लाल मस्जिद पर हमला: मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज होगा

इस्लामाबाद, 13 जुलाई: पाकिस्तान के साबिक सदर परवेज मुशर्रफ की परेशानी बढ़ती ही जा रही हैं। इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने जुमे के दिन लाल मस्जिद मुहिम में मुबय्यना तौर पर शमूलीयत के लिए मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज करने का हुक्म दिया।

इस्लामाबाद, 13 जुलाई: पाकिस्तान के साबिक सदर परवेज मुशर्रफ की परेशानी बढ़ती ही जा रही हैं। इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने जुमे के दिन लाल मस्जिद मुहिम में मुबय्यना तौर पर शमूलीयत के लिए मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज करने का हुक्म दिया।

जस्टिस नूरूल हक कुरैशी ने यह हुक्म लाल मस्जिद के गाजी अब्दुल रशीद के बेटे हारून की तरफ से दरखास्त पर सुनवाई के दौरान किया। रशीद ने अपने वालिद और दादा के कत्ल में शमूलियत के लिए मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज करने की अपील की थी।

सुनवाई के दौरान जज ने कहा कि रशीद का बयान दर्ज किया जाना चाहिए। तीन जुलाई, 2007 को मुशर्रफ ने मुल्क के हुकूक को चुनौती देने के लिये लाल मस्जिद के खिलाफ फौजी कार्रवाई करने का हुक्म दिया था। फौज ने हाते पर हमला करने से पहले 12 दिन तक मस्जिद की घेराबंदी की थी। इस हमले में सैकड़ों लोग मारे गए थे।

लाल मस्जिद के साबिक मौलवी पर रेंजरों पर हमले के लिए मदरसे के तालेबात को मस्जिद के लाउडस्पीकर का इस्तेमाल कर भड़काने का इल्ज़ाम था। रेंजरों को गाजी और उनके साथियों को सख्त इस्लामिक कानून लागू कराने के वास्ते हुकूमत पर दबाव डालने के लिए लोगों को डराने और धमकाने के लिए जो मुहिम चला रखा था उसे रोकने के लिए तैनात किया गया था। पिछले साल Anti-terror court ने गाजी और दूसरे 16 लोगों को रेंजर आफीसरों की मौत के मामले में बरी कर दिया था।

शरीफ की हुकूमत पहले ही मुशर्रफ के खिलाफ नवंबर, 2007 में मुल्क में इमरजेंसी लगाने और आईन की खिलाफवर्ज़ी करने के इल्ज़ाम में बगावत का मुकदमा चलाने का फैसला कर चुकी है।

TOPPOPULARRECENT