Wednesday , August 23 2017
Home / Delhi News / वकीलों ने अदालत में हुई हिंसा के ख़िलाफ़ “सख्त कार्रवाई” की मांग को लेकर किया मार्च

वकीलों ने अदालत में हुई हिंसा के ख़िलाफ़ “सख्त कार्रवाई” की मांग को लेकर किया मार्च

image

नई दिल्ली: 200 से अधिक वकीलों ने पटियाला हाउस कोर्ट में पत्रकारों, जेएनयू शिक्षकों और छात्रों पर हमला करने वाले साथी वकीलों के खिलाफ “सख्त कार्रवाई” की मांग को लेकर बुध के रोज़ साइलेंट मार्च किया।

मार्च का आयोजन लायर फॉर डेमोक्रेसी एंड जस्टिस के बैनर के साथ सुप्रीम कोर्ट से लेकर बार काउंसिल आफ़ इण्डिया (बीसीआई) के ऑफिस तक किया गया |

वकीलों ने मांग की कि लोकतान्त्रिक परिवेश ,अभिव्यक्ति की आज़ादी और हर किसी को न्याय का अधिकारों को बनाये रखने के लिए बार काउन्सिल के वकीलों को सक्रिय कार्यवाई करनी चाहिए |

पटियाला हाउस अदालत में हुए इस हमले में पत्रकारों और शिक्षकों ,छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में कोर्ट और पुलिस की नाकामी के लिए बहुत अफ़सोस का इज़हार किया गया |

वकीलों ने कहा कि बीसीआई को इस मामले की व्यापक जांच करनी चाहिए, अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू करने के साथ दो महीने के अंदर आरोपियों को सख्त सजा दी जानी चाहिए |

वकीलों ने मांग की है 15 और 17 फ़रवरी को अदालत में हुई घटनाओं को मद्देनज़र रखते हुए एक कमेटी का गठन किया जाए जो इस तरह की घटनाओं को दोबारा होने से रोकने के लिए गाईडलाइन तय करे |

वकीलों ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा कि कथित राष्ट्रवाद के नाम पर देश की एकता और अखंडता को खंडित किया जा रहा है |

बार काउन्सिल के जॉइंट सेक्रेट्री ने वकीलों को आश्वासन दिया है कि उनकी मांगों को बार काउन्सिल अध्यक्ष और काउन्सिल के सामने रखा जायेगा |उन्होंने कहा कि बार काउन्सिल ने दोषी वकीलों के आचरण पर गौर करने के लिए पहली ही कार्यवाई की शुरुआत करते हुए एक कमेटी का गठन किया है |

TOPPOPULARRECENT