Tuesday , October 24 2017
Home / India / वज़ीर-ए-आज़म और सी बी आई को भी लोक पाल के दायरा में लाया जाये: मायावती

वज़ीर-ए-आज़म और सी बी आई को भी लोक पाल के दायरा में लाया जाये: मायावती

लखनऊ १४ दिसम्बर: (पी टी आई) रिशवत के ख़ातमा के लिए पर नरम रवैय्या इख़तियार करने का कांग्रेस पर इल्ज़ाम आइद करते हुए चीफ़ मिनिस्टर यूपी मायावती ने आज मुतालिबा किया कि वज़ीर-ए-आज़म, सी बी आई, ग्रुप सी और डी मुलाज़मीन को भी लोक पाल के दायरे मे

लखनऊ १४ दिसम्बर: (पी टी आई) रिशवत के ख़ातमा के लिए पर नरम रवैय्या इख़तियार करने का कांग्रेस पर इल्ज़ाम आइद करते हुए चीफ़ मिनिस्टर यूपी मायावती ने आज मुतालिबा किया कि वज़ीर-ए-आज़म, सी बी आई, ग्रुप सी और डी मुलाज़मीन को भी लोक पाल के दायरे में लाया जाना चाहीये। उन्हों ने मौजूदा शक्ल में लोक पाल बल की मुख़ालिफ़त करने का अह्द किया।

मुल्क में होने वाली धांदलियों और अस्क़ामस जैसे कॉमन वेल्थ गेम्स, 2G स्क़ाम, आदर्श सोसाइटी अस्क़ाम का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस की ख़ामीयों से भरपूर पालिसी से इशारा मिलता है कि वो रिश्वत के ख़ातमा के लिए एक मज़बूत मेकानिज़म लाना नहीं चाहती क्योंकि ऐसा करने से कांग्रेस पार्टी के कई क़ाइदीन और वुज़रा फंस जायेगी।

उन्हों ने अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहा कि बाबा साहिब अंबेडकर ने तमाम उमूर का जायज़ा लेने के बाद ही दस्तूर साज़ी का अमल पूरा किया था। लोक पाल बल को भी दस्तूर के वफ़ाक़ी ढाँचे को मल्हूज़ रखते हुए तैय्यार किया जाना चाहीये।

ये बिल वफ़ाक़ी ढाँचे के बुनियादी जज़बा के मुग़ाइर नहीं होना चाहीये। मुआशरती ख़िदमतगार अना हज़ारे की खुल कर ताईद-ओ-हिमायत करते हुए उत्तरप्रदेश की चीफ़ मिनिस्टर मायावती ने आज कहा है कि वज़ीर-ए-आज़म और ग्रुप सी और डी के सरकारी मुलाज़मीन को लाज़िमी तौर पर लोक पाल के दायरे में लाया जाना चाहीये। यहां एक प्रेस् कान्फ़्रैंस में मायावती ने कहा कि मर्कज़ी तफतीशी ब्यूरो (सी बी आई) को भी मर्कज़ी हुकूमत की मातहती से निकाल कर लोक पाल के तहत लाया जाना चाहीये।

बहुजन समाज पार्टी की सदर ने इसी के साथ ये भी कहा कि ऑल पार्टी मीटिंग में बी एस पी उसी मौक़िफ़ के साथ हिस्सा लेगी। वज़ीर-ए-आज़म की तलब करदा ऑल पार्टी मीटिंग कल होगी। मायावती ने ज़ोर दे कर कहा कि पारलीमानी मजलिस क़ायमा की तैयार करदा लोक पाल मुसव्वदा ना सिर्फ कमज़ोर है बल्कि इस के ज़रीया मलिक के लोगों को गुमराह किया गया है और बी एस पी एस बल को हरगिज़ हरगिज़ पास नहीं होने देगी क्योंकि कमज़ोर बल से सिर्फ बद उनवान वज़ीरों को तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम होगा।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि वो चाहती हैं कि लोक पाल बिल मज़बूत और मूसिर होने के साथ साथ आमफहम भी हो।

TOPPOPULARRECENT