Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / वज़ीर-ए-आज़म की म‌दाख़िलत भी बेअसर अवाम से मुशावरत(चर्चा) का ऐलान

वज़ीर-ए-आज़म की म‌दाख़िलत भी बेअसर अवाम से मुशावरत(चर्चा) का ऐलान

हैदराबाद १५ नवंबर (सियासत न्यूज़) कांग्रेस के नाराज़ रुकन पार्लीमैंट के ऐस राव, वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह से मुलाक़ात के बाद भी अपने अस्तीफ़ा के फ़ैसला पर अटल हैं। एक हफ़्ता बाद अपने मुस्तक़बिल के लायेहा-ए-अमल के ऐलान का उन्हों ने फ

हैदराबाद १५ नवंबर (सियासत न्यूज़) कांग्रेस के नाराज़ रुकन पार्लीमैंट के ऐस राव, वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह से मुलाक़ात के बाद भी अपने अस्तीफ़ा के फ़ैसला पर अटल हैं। एक हफ़्ता बाद अपने मुस्तक़बिल के लायेहा-ए-अमल के ऐलान का उन्हों ने फ़ैसला किया। वाज़िह रहे कि मर्कज़ी काबीना में शामिल ना करने पर बतौर-ए-एहतजाज हल्क़ा लोक सभा अलवर की नुमाइंदगी करने वाले मिस्टर के ऐस राव‌ ने पार्लीमैंट की रुकनीयत से मुस्ताफ़ी होने का फ़ैसला करते हुए मकतूब इस्तीफ़ा पार्टी सदर सोनीया गांधी और स्पीकर लोक सभा को रवाना कर दिया था।

वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर ने कल उन्हें फ़ोन करते हुए वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के लिए दिल्ली तलब किया था। आज उन्हों ने वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात भी की। बावसूक़ ज़राए ने बताया कि वज़ीर-ए-आज़म ने मिस्टर के ऐस राॶ को अस्तीफ़ा से दस्तबरदार होने और पार्टी के लिए उन की ख़िदमात से इस्तिफ़ादा का यक़ीन दिलाया, ताहम के ऐस राव अस्तीफ़ा के लिए बज़िद रही। बादअज़ां उन्हों ने मीडीया से बातचीत करते हुए कहा कि इस्तीफ़ा के मुआमले में वो अपने फ़ैसला पर अटल हैं।

वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के बावजूद उन के फ़ैसला में कोई तबदीली नहीं आई। जब उन से सवाल किया गया कि उन्हों ने ख़ुद वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के लिए वक़्त तलब किया था? या वज़ीर-ए-आज़म ने मुलाक़ात की ख़ाहिश ज़ाहिर की थी?। मिस्टर के ऐस राव ने कहा कि उन्हों ने ही वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के लिए वक़्त तलब किया था।

मुलाक़ात के दौरान बातचीत के बारे में पूछे गए सवाल को मुस्तर्द करते हुए उन्हों ने कहा कि वो इस मुलाक़ात पर कोई तबसरा मुनासिब नहीं समझती। मुस्तक़बिल की हिक्मत-ए-अमली के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि वो अपने हलक़ा के अवाम और हामीयों से मुशावरत के बाद ही इस सिलसिले में कोई फ़ैसला करेंगी।

TOPPOPULARRECENT