Tuesday , October 24 2017
Home / Sports / वसीम अकरम और रमेज राजा को भी पाकिस्तान वापस भेज दिया जाय‌

वसीम अकरम और रमेज राजा को भी पाकिस्तान वापस भेज दिया जाय‌

नई दिल्ली 16 जनवरी हिंदूस्तानी साबिक़ खिलाड़ियों ने ना सिर्फ़ हाकी इंडिया की जानिब से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को टूर्नामैंट में शिरकत के बगै़र वतन वापिस रवाना करने की फ़ैसले की हिमायत की है बल्कि उन्होंने ये भी मश्वरा दिया है कि पाकिस्तानी क्रिकेटरस और वहां के फ़नकारों को भी हिन्दूस्तान में दाख़िल होने की इजाज़त ना दी जाय।

नीज़ मौजूदा हालात में दोनों ममालिक के बीच‌ मुजव्वज़ा दो रुख़ी सीरीज़ों को भी रोक दिया जाये। पाकिस्तान की जानिब से सरहद पर हिन्दूस्तानी फ़ौजीयों के क़तल के बाद मुल्क भर में पड़ोसी मुल्क के ख़िलाफ़ एहतिजाज होरहा है। जिस के तनाज़ुर में हाकी इंडिया ने यहां रवां हाकी इंडिया लीग में शिरकत करने आए 9 हाकी खिलाड़ियों को वतन वापिस भेज दिया है।

पाकिस्तान की इस हरकत पर वज़ीर-ए-आज़म हिन्द मनमोहन सिंह ने भी मुज़म्मत की। 1975 ए- में वर्ल्डकप टीम के रुकन अशोक कुमार ने कहा कि बुनियादी तौर पर स्पोर्टस और सियासत को अलग रखना चाहीए लेकिन इस मर्तबा सारी हदें पार करदी गई हैं लिहाज़ा इन हालात में पड़ोसी मुल्क के खिलाड़ियों को क़ियाम और आइन्दा सीरीज़ों के लिए आने की इजाज़त नहीं दी जानी चाहिए।

ख़बररसां एजैंसी से इज़हार-ए-ख़्याल करते हुए कुमार ने कहा कि वो समझते हैं कि पाकिस्तानी हाकी खिलाड़ियों को वतन वापिस भेजने का फ़ैसला इंतिहाई मौज़ूं फ़ैसला है। उन्होंने इस बात का एतराफ़ भी किया कि सियासत और खेल को यकजा नहीं किया जाना चाहीए लेकिन पड़ोसी मुलक ने तमाम हदें पार करदी हैं।

उन्होंने मज़ीद कहा कि हम पाकिस्तान को एक सख़्त पैग़ाम देना चाहते हैं कि हम किसी फ़र्द से फ़र्द का राबिता भी रखना नहीं चाहते और हमारे मुल्क में खिलाड़ियों के अलावा फ़नकारों को भी मुज़ाहरे करने की इजाज़त नहीं देंगे। ओलम्पिक और अर्जुन एवार्ड याफ़ता हिंदूस्तानी साबिक़ खिलाड़ी मुकेश कुमार ने तजवीज़ पेश की है कि पाकिस्तानी क्रिकेट कामनटीटर रमीज़ राजा और वसीम अकरम को भी वतन वापिस भेज दिया जाना चाहीए।

रमीज़ राजा और वसीम अकरम फ़िलहाल हिंदूस्तान और इंगलैंड के दरमयान रवां वनडे सीरीज़ में कामनटरी के फ़राइज़ अंजाम दे रहे हैं। दरीं असना 3 मर्तबा की आलमी चम्पिय‌न टीम के रुकन पाकिस्तान की हाकी टीम के चीफ़ कोच अख़तर रसूल ने कहा कि मार्च में दोनों ममालिक के बीच मुनाक़िद शुदणी हाकी सीरीज़ को शैडूल के मुताबिक़ मुनाक़िद करना चाहीए।

पाकिस्तान से ख़बररसां एजैंसी पी टी आई को इंटरव्यू देते हुए अख़तर रसूल ने कहा कि शख़्सी तौर पर वो महसूस करते हैं कि मौजूदा हालात कशीदा हैं, लेकिन हाकी इंडिया लीग के फ़ैसला की वो हिमायत करते हैं क्योंकि उन्हों ने काफ़ी ग़ौर-ओ-ख़ौज़ के बाद पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वापिस भेजा है।

दरीं असना उन्होंने कहा कि हिंदूस्तानी और पाकिस्तानी हाकी टीम को एक दूसरे के ख़िलाफ़ खेलते हुए दुनियाए हाकी पर योरोपी टीमों के ग़लबा को ख़त्म करना चाहीए। नीज़ दोनों ममालिक के बीच‌ मुनाक़िद शुदणी सीरीज़ के ज़रीये हम दुनिया को ये पैग़ाम दे सकते हैं कि खेल दोनों ममालिक केबीच‌ ताल्लुक़ात को बेहतर बनाने में एक पुल‌ का काम करता है

TOPPOPULARRECENT