Monday , August 21 2017
Home / India / वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में इस्लामिक डेवलेपमेंट बैंक भी करेगा शिरकत

वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में इस्लामिक डेवलेपमेंट बैंक भी करेगा शिरकत

अहमदाबाद: वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट(VGGS) के द्विवार्षिक आयोजन के आठवें संस्करण में कई इस्लामी देश भाग लेने की तैयारी कर रहे हैं  | इस आयोजन में भाग लेने से भारत का इस्लामी देशों के साथ संबंध मज़बूत होंगे |

जनवरी में आयोजित होने वाला ये शिखर सम्मेलन भारत को दूसरे देशों के साथ राजनयिक संबंधों को मजबूती देगा | ये सम्मेलन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मध्य पूर्व के देशों के दौरान द्विपक्षीय भागीदारी को बढ़ावा देने की शुरुआत को भी दिशा प्रदान करेगा |

करीब दो दर्जन से अधिक इस्लामी देशों की हाई प्रोफाइल सरकार और व्यापारी प्रतिनिधियों का एक बड़ा ग्रुप इस निवेश सम्मेलन में भाग लेंगे | इस सम्मेलन के आयोजन की शुरुआत उस वक़्त से की गयी थी जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे |
इस सम्मेलन में भाग लेने वालों में सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ओमान, कुवैत, कतर, मोरक्को, अल्जीरिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, मालदीव और ईरान भी शामिल हैं | ये 2009 में शुरू हुए वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट मुस्लिम देशों की बहुत ही सीमित भागीदारी थी | 2015 में इस आयोजन में 10 मुस्लिम देशों ने भाग लिया था जिसको एक मज़बूत साझेदारी के तौर पर देखा गया |

अप्रैल 2016 में, प्रधानमंत्री ने सऊदी अरब का दौरा कर सऊदी किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सउद के साथ एक संयुक्त बयान जारी किया था। इसी साल अगस्त में प्रधानमंत्री संयुक्त अरब अमीरात भी गये थे । सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात के VGGS-2017 के भागीदार देशों में हिस्सा लेने की सबसे अधिक संभावना है। मुस्लिम वर्ल्ड के सबसे शक्तिशाली वित्तीय संस्थानों में से एक इस्लामिक डेवलेप बैंक के साथ बिन लादेन जैसी टॉप मुस्लिम कंपनी ने भी इसमें भाग लेने की पुष्टि की है| जेद्दा चेम्बर्स ऑफ़ कामर्स , सयुंक्त अरब अमीरात और ओमान चेम्बर्स ऑफ़ कामर्स भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे |

मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय के कुलपति (MANUU ) जफर सरेशवाला ने मोदी के साथ सऊदी अरब का दौरा किया था| पिछले सप्ताह उन्होंने  सऊदी अरब, कुवैत और कतर में गुजरात के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया था | जफर ने कहा कि हमें सऊदी अरब, कुवैत और कतर सरकारों और व्यापारिक समुदायों से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। उन्होंने कहा है कि ये देश अपने सरकारी प्रतिनिधिमंडल के अलावा महत्वपूर्ण वित्तीय और कॉर्पोरेट प्रतिनिधिमंडलों को भी इस सम्मेलन में भाग लेने के लिए भेजेंगे |

पर्यटन और जलवायु परिवर्तन विभाग के प्रमुख सचिव एसजे हैदर ने अरब अमीरात और कतर के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया था | उन्होंने कहा कि इन दोनों देशों की सरकारों के साथ उनके व्यापारिक समुदायों से भी अभूतपूर्व प्रतिक्रिया मिली है | वे वीजीएस-2017 में भाग लेने के लिए उत्सुक हैं |

TOPPOPULARRECENT