Friday , October 20 2017
Home / India / वाजपेई और अडवानी अज़ीमतरीन क़ाइदीन : बाल ठाकरे

वाजपेई और अडवानी अज़ीमतरीन क़ाइदीन : बाल ठाकरे

मुंबई , १३ जनवरी (एजैंसीज़) शिवसेना सरबराह बाल ठाकरे का कहना है कि अटल बिहारी वाजपाई और एल के अडवानी अज़ीम क़ाइदीन हैं, लेकिन जब बी जे पी में मौजूद नई नसल से ताल्लुक़ रखने वाले क़ाइदीन के बारे में इन से इस्तिफ्सार किया गया कि उन्हों ने लब क

मुंबई , १३ जनवरी (एजैंसीज़) शिवसेना सरबराह बाल ठाकरे का कहना है कि अटल बिहारी वाजपाई और एल के अडवानी अज़ीम क़ाइदीन हैं, लेकिन जब बी जे पी में मौजूद नई नसल से ताल्लुक़ रखने वाले क़ाइदीन के बारे में इन से इस्तिफ्सार किया गया कि उन्हों ने लब कुशाई नहीं की।

याद रहे कि बी जे पी, शिवसेना की क़दीम तरीन हलीफ़ जमात है। पार्टी के तर्जुमान अख़बार सामना में एक इंटरव्यू के दौरान उन्हों ने कहा कि वाजपाई और अडवानी अज़ीम क़ाइदीन थे बल्कि अब भी हैं। वाजपाई एक बेहतरीन मुक़र्रर हैं और अपनी इस सलाहीयत की बुनियाद पर उन्होंने स‍ंघ जैसी पार्टी तशकील दी।

ये पूछे जाने पर कि इन के बी जे पी से अब कैसे ताल्लुक़ात हैं? तो उन्हों ने जवाब देते हुए कहा कि इस सवाल की कोई ज़रूरत नहीं है। ताल्लुक़ात यूं तो अच्छे ही हैं। किसी के भी साथ ताल्लुक़ात दो नौईयत के होते हैं। एक शख़्सी और दूसरे कारोबारी या प्रोफ़ैशनल।

उन्हों ने एक बार फिर वाजपाई और अडवानी की बेहद सताइश की और कहा कि जहां तक नई नसल के क़ाइदीन का सवाल है तो उन के बारे में जितना कम कहा जाय उतना ही बेहतर है। शिवसेना-बी जे पी का सयासी इत्तेहाद 20 साल पुराना है और अब इस इत्तेहाद को मुंबई के बलदी इंतिख़ाबात में कांग्रेस । एन सी पी इत्तेहाद से ज़बरदस्त मुसाबक़त का सामना है। 85 साला ठाकरे ने कहा कि उन्हें तवक़्क़ो है कि बलदी इंतेख़ाबात में शिवसेना, बी जे पी, आर पी आई इत्तिहाद को कामयाबी हासिल होगी।

उन्होंने कहा कि वो दो इंतिख़ाबी रैलियों में शिरकत करेंगे। एक थाने में होगी और दूसरी मुंबई में। उन्हों ने कहा कि रैलियों में हालाँकि वो ज़्यादा शिरकत नहीं करते लेकिन पार्टी वर्कर्स के इसरार पर अब वो अपनी मस्रूफ़ियत पर नज़रसानी कर रहे हैं।

उन्हों ने रियासत में कांग्रेस की क़ियादत वाली हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि मुंबई के दादर इलाक़ा में वाक़्य इंदू मिल अराज़ी पर बाबा साहब अंबेडकर की यादगार क़ायम करने को कांग्रेस ने राई का पहाड़ बना दिया और अच्छे ख़ासे अमल को तनाज़ा में तबदील कर दिया।

TOPPOPULARRECENT