Wednesday , October 18 2017
Home / Khaas Khabar / वाराणसी: सपा लीडर ने ख़ातून पर फेंका खौलता दूध

वाराणसी: सपा लीडर ने ख़ातून पर फेंका खौलता दूध

मोदी के पार्लीमानी हल्के वाराणसी से एक दिल दहला देने वाली खबर आई है. सपा सरकार का एमएलए इक्तेदार के नशे में इतना चूर हो गया कि उसने खातून पर खौलता हुआ दूध फेंक दिया.

मोदी के पार्लीमानी हल्के वाराणसी से एक दिल दहला देने वाली खबर आई है. सपा सरकार का एमएलए इक्तेदार के नशे में इतना चूर हो गया कि उसने खातून पर खौलता हुआ दूध फेंक दिया. सपा नेता राधेश्याम यादव ने पुलिस के सामने ही एक खातून पर खौलता हुआ दूध फेंक दिया. खातून उनके घर में किराए पर रहती है.

खातून का नाम ज्योति चतुर्वेदी (27 साल) है. पुलिस इस मामले में पूरी तरह से तमाशबीन बनी रही. एसपी लीडर पर कार्रवाई करना तो दूर वह केस दर्ज करने तक से कतराती रही. ज्योति एक प्राइवेट नौकरी करके जिंदगी बसर करती है.

चेतगंज थाना इलाके के सरायगोवर्धन इलाके में एक मकान मालिक ने किराएदार खातून ज्योति के ऊपर खौलता दूध फेंक दिया. ज्योति ने इल्ज़ाम लगाया कि वह अस्पताल गई थी और लौटने में लेट हो गई. दरवाजा नहीं खोलने पर उसने पुलिस को बुलाया. इससे नाराज होकर उसने पुलिस के सामने ही उसके ऊपर खौलता दूध फेंक दिया. पुलिस ने इस मामले में एनसीआर दर्ज कर लिया है.

मुतास्सिरा ज्योति ने बताया कि वह जुमेरात की रात अपने रिश्तेदार को देखने गई थी और लौटने में थोड़ी देर हो गई. उसने जब दरवाजा खटखटाया तो सपा लीडर राधेश्याम यादव ने दरवाजा खोलने से इनकार कर दिया. इससे नाराज खातून ने शोर मचाना शुरू कर दिया. इसके बाद भी मकान मालिक ने दरवाजा नहीं खोला तो उसने पुलिस को इत्तेला दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब गेट खुलवाया तो राधेश्याम पुलिस के सामने ही खौलता दूध उसके ऊपर फेंक दिया. इससे वह 30 फीसद से ज्यादा जल गई. उसे फौरन जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है.

खातून के मुताबिक पुलिस के सामने हुई वाकिया के बावजूद पुलिस ने राधेश्याम को गिरफ्तार नहीं किया. जबकि खातून ने अपने साथ ही हुई वाकिया की तहरीरी शिकायत की है. पुलिस ने मकान मालिक के खिलाफ सिर्फ एनसीआर दर्ज कर कागज़ी कार्रवाई कर लिया है.

मकान मालिक और किराएदार का झगड़ा काफी दिनों से चल रहा था. उसने ज्योति और उसके शौहर योगेश को फ्लैट खाली करने के लिए 20 जनवरी तक का वक्त दिया था, लेकिन उन्हें कोई मकान नहीं मिला इसलिए खाली नहीं किया. मकान मालिक इस बात से नाराज चल रहा था.

TOPPOPULARRECENT