Friday , October 20 2017
Home / Bihar News / वार्डो में कागजों पर बंट रहा केरोसिन

वार्डो में कागजों पर बंट रहा केरोसिन

लोगों को कालाबाजारी से आज़ादी दिलाने के मक़सद से रियासती हुकूमत की हिदायत पर जिला हेड क्वार्टर के तमाम वार्डो में केरोसिन तक़सीम की मंसूबा शुरू की गयी थी। मंसूबा आज भी लागू है। लेकिन, गुजिशता डेढ़ साल से शहर के 33 में से किसी वार्ड में

लोगों को कालाबाजारी से आज़ादी दिलाने के मक़सद से रियासती हुकूमत की हिदायत पर जिला हेड क्वार्टर के तमाम वार्डो में केरोसिन तक़सीम की मंसूबा शुरू की गयी थी। मंसूबा आज भी लागू है। लेकिन, गुजिशता डेढ़ साल से शहर के 33 में से किसी वार्ड में भी केरोसिन का तक़सीम नहीं हो पा रहा है।

केरोसिन तक़सीम की निगरानी का जिम्मा मुतल्लिक़ वार्ड पार्षद को दी गयी थी। कागजों पर आज भी वार्ड पार्षद की तरफ से केरोसिन तक़सीम का सर्टिफिकेट महकमा को फी महीना दिया जा रहा है। फी वार्ड में हर महीना 750 लीटर केरोसिन का तक़सीम होना है। महीने की पांच, 10, 15, 20 और 25 तारीख को अलग-अलग प्वाइंटों पर केरोसिन का तक़सीम वार्ड पार्षद के निगरानी में किया जाना है। प्वाइंट तो दूर किसी अहम मुकाम पर भी केरोसिन का तक़सीम नहीं होने से लोगों को कालाबाजारी में केरोसिन खरीद कर घर को रोशनी करना पड़ रहा है।

जिला हेड क्वार्टर के कई वार्डो में कई अहले खाना ऐसे हैं जो पूरी तरह केरोसिन पर ही मूनहसर हैं। मंसूबा के मुताबिक फी वार्ड में मुकर्रर तारीख को हॉकर एक सौ 50 लीटर केरोसिन की तक़सीम करना है। हर माह हर वार्ड में सौ सौ 50 लीटर केरोसिन का तक़सीम किया जाना है। शहर के 33 वार्ड में से मलिन बस्ती वाले वार्ड में भी केरोसिन का तक़सीम नहीं हो पा रहा है। कागजों पर तक़सीम होनेवाले 32 हजार 250 लीटर केरोसिन का बारा-न्यारा अफसरों व पार्षदों के मिलीभगत की वजह से हो रही है।

TOPPOPULARRECENT