Thursday , August 24 2017
Home / Delhi News / विडियो: 55 मौतों को नोटबंदी से नहीं जोड़ने पर बीबीसी पत्रकार पर भड़के केजरीवाल

विडियो: 55 मौतों को नोटबंदी से नहीं जोड़ने पर बीबीसी पत्रकार पर भड़के केजरीवाल

नई दिल्ली। 8 नवंबर की आधी रात से घोषित हुई नोटबंदी के बाद से अब तक विभिन्न कारणों से 55 मौतें हो चुकी हैं। इस विषय को विपक्ष अपना हथियार बना कर सरकार पर हमला कर रहा है।

इसी विषय पर समाचार वेबसाइट बीबीसी हिन्दी पर एक साक्षात्कार के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भड़क गए। साक्षात्कार के दौरान केजरीवाल ने कहा कि 55 लोगों की मौत हो चुकी है, 55 लोगों की।
इस पर पत्रकार ने कहा कि इन मौतों को हम कैसे नोटबंदी से लिंक कर सकते हैं? इसके बाद केजरीवाल ने कहा कि आप ही के भाई बंधु पत्रकार, जिनमें आत्मा बची है वो जा जाकर लोगों से लाइनों में पूछ रहे हैं।

केजरीवाल ने समाचार वेबसाइट की विश्वसनीयता पर ही प्रश्न लगा दिया। केजरीवाल ने कहा कि मुझे शर्म आती है कि आप जैसे पत्रकार ये कहते हैं कि इन मौतों को विमुद्रीकरण से लिंक नहीं किया जा सकता। पत्रकार ने कहा कि 55 मौतें गंभीर मामला है लेकिन इसे कैसे जोड़ सकते हैं।

इससे पहले साक्षात्कार के दौरान केजरीवाल ने कहा कि मुझे नरेंद्र मोदी और उनके फैसले से नफरत है। ये सरकार आम लोगों की जेब से पैसे निकलवाकर बैंकों में जमा कराना चाहती है। ताकि देश की बड़ी-बड़ी कंपनियों का ऋण माफ किया जा सके।

इस दौरान केजरीवाल ने कहा नोटबंदी अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। साथ कई राजनेताओं और उद्योगपतियों पर भी गंभीर आरोप लगाए। इस दौरान उन्होंने वही दस्तावेज दिखाए जो दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी की सभा में लहराए थे।
केजरीवाल से यह पूछे जाने पर कि उनकी जेब में कितने रुपए हैं तो उन्होंने जवाब दिया 250 रुरुपयेमें। मेरे घर से लाइन में लगने कौन गया ये मुद्दा नहीं
घर के बारे में सवाल किए जाने पर केजरीवाल ने कहा कि घर के संबंध में चिंता रहती है, मुझे हर मिनट पैसे की जरूरत नहीं पड़ती लेकिन घर के लोग लाइन में लग कर पैसे ले आए हैं।

जब केजरीवाल ये यह पूछा गया कि घर का कौन सदस्य लाइन में लगने गया थास इस पर केजरीवाल ने कहा कि मेरे परिवार के लोग गए थे। मैं उसे मुद्दा नहीं बनाना चाहता। कुछ लोग अपनी मां को लगाकर और कुछ लोग खुद। वो जरूरी नहीं है।

TOPPOPULARRECENT