Monday , September 25 2017
Home / Delhi News / विदेशियों को बीफ खिलाने में कोई हर्ज नहीं: खट्टर

विदेशियों को बीफ खिलाने में कोई हर्ज नहीं: खट्टर

हरियाणा: देश भर में बीफ को लेकर चल रही राजनीति को लेकर पहले से ही देश की जनता परेशान है और अब के वक़्त में जब यह मामला ठंडा पड़ने के कागार पर है तो हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने एक बार फिर मामले को तूल देने वाली बात कह डाली है।

खट्टर ने कहा है कि वे हरियाणा में आने वाले विदेशियों को राज्य में लगे बीफ बैन से राहत देने के लिए तैयार हैं। खट्टर की कही यह बात कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के जरिये सामने आई है जिनमे यह दावा किया गया है।

देश की एक अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, खट्टर ने कहा, ”अगर हमें उन लोगों (विदेशियों) के लिए कोशिश करनी पड़े ताकि वे ऐसा कर सकें (बीफ खा सकें) तो पक्के तौर पर हम ऐसा करेंगे। बीफ खाने के लिए एक स्पेशल लाइसेंस जारी किया जा सकता है।”

खट्टर ने जोर देकर कहा कि राज्य में बीफ पर लगा यह बैन हरियाणा की परंपराओं को ध्यान में रखकर ही लगाया गया है। उन्होंने कहा, ”हर किसी के खाने पीने का निजी तरीका होता है। खासतौर पर वे जो बाहर से आए हैं, हमें उस बात का विरोध नहीं है।”

आपको बता दें कि हरियाणा के सीएम ने अक्‍टूबर 2015 में यह कहकर बवाल खड़ा कर दिया था कि अगर मुसलमान देश में रहना चाहते हैं तो उन्‍हें बीफ खाना छोड़ना होगा। खट्टर सरकार ने हरियाणा गोवंश संरक्षण और गोवंसवर्धन कानून पिछले साल मार्च में ही पास करा लिया था, लेकिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इसे नवंबर महीने में मंजूरी दी थी। इस कानून के तहत गौहत्या का इलज़ाम साबित होने पर तीन से दस साल तक की सजा और एक लाख रुपए तक के जुर्माने का कानून है। इसके अलावा, गोमांस की तस्‍करी करने के खिलाफ भी कड़े कानून बनाये गए हैं।

TOPPOPULARRECENT