Saturday , September 23 2017
Home / India / विद्यार्थियों को संस्कार सिखाना ज़रूरी: नायडू

विद्यार्थियों को संस्कार सिखाना ज़रूरी: नायडू

केंद्रीय मंत्री वैंकया नायडू ने कहा है कि आधुनिक शिक्षा का भारतीयकरण जरूरी है। साथ ही विद्यार्थियों को भारतीय संस्कृति और संस्कार का ज्ञान होना आज की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल को दो वर्ष पूरे होने पर आयोजित विकास उत्सव में आज केन्द्रीय शहरी विकास, आवास, शहरी गरीबी उन्मूलन एवं संसदीय कार्य मंत्री वैंकेया नायडू छत्तीसगढ़ के दुर्ग शहर में थे। नायडू ने आज शहर में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

नायडू ने जिले के नेहरू नगर भिलाई स्थित सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के नये भवन का शुभारंभ किया। शुभारंभ समारोह को सम्बोधित करते हुए नायडू ने कहा कि आधुनिक शिक्षा का भारतीयकरण जरूरी है। भारतीयता एक जीवन पद्घति है, जो हमारे पूर्वजों ने दिया है उसे हम आगे ले जाना चाहते हैं। देश में सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बढ़िया काम कर रही है। ऐसे प्रयासों से भारतीय संस्कृति कायम है।

केंद्रीय मंत्री ने देश में अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे लार्ड मैकाले शिक्षा पद्घति में परिवर्तन पर जोर देते हुए कहा कि विद्यार्थियों को भारतीय संस्कृति और संस्कार का ज्ञान होना आज की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को देश के महापुरूषों, इतिहास, अनुशासन, सामाजिक समरसता जैसे महत्वपूर्ण विषयों का ज्ञान सरस्वती शिशु मंदिर के विद्यालय दे रहे है।

नायडू ने दुर्ग प्रवास के दौरान शहर के सुराना कालेज मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय के उत्थान के सपने को छत्तीसगढ़ के रमन सिंह की सरकार ने पूरा किया है। राज्य सरकार द्वारा संचालित प्रयास आवासीय विद्यालय में पढ़कर बस्तर अंचल के बच्चों का चयन आईआईटी में हुआ है इसके लिये उन्होंने मुख्यमंत्री रमन सिंह को बधाई दी।

(भाषा)

TOPPOPULARRECENT