Monday , September 25 2017
Home / India / विश्व हिंदू परिषद द्वारा राम मंदिर के लिए पत्थर मंगाने पर रोक

विश्व हिंदू परिषद द्वारा राम मंदिर के लिए पत्थर मंगाने पर रोक

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के व्यावसायिक कर विभाग ने विश्व हिंदू परिषद (VHP) को प्रस्तावित राम मंदिर निर्माण के लिए राजस्थान और गुजरात से पत्थरों का आयात करने की इजाजत देने से इनकार कर दिया है। VHP अयोध्या में बाबरी मस्जिद की भूमि पर यह मंदिर बनवाने की तैयारी के लिए पत्थर मंगवाना चाहती है। इससे पहले पिछले साल नवंबर में राज्य सरकार ने मंदिर निर्माण की कार्यशाला में रखने के लिए पत्थरों के आयात की अनुमति दे दी थी। इस फैसले को लेकर BJP के अलावा अन्य पार्टियों ने अखिलेश सरकार की कड़ी आलोचना की थी।

स्थानीय आयकर कर्मचारियों ने VHP को पत्थरों के आयात के लिए जरूरी फॉर्म 39 देने से इनकार करने की पुष्टि की। उत्तर प्रदेश में व्यावसायिक निर्माण कार्य में लगने वाले पत्थर VAT के दायर में आते हैं। निजी जरूरत की स्थिति में इसपर कर लगता है, जिसके लिए व्यावसायिक कर विभाग फॉर्म 39 जारी करता है। इस फॉर्म की कॉपी आयातित पत्थरों की खेप के साथ संलग्न की जाती है। VHP अभी तक प्रस्तावित मंदिर निर्माण के लिए इसी फॉर्म 39 का इस्तेमाल कर पत्थर आयात करती आई थी।

विभाग ने ‘ऊपर से आए आदेश’ का हवाला देते हुए इस बार यह फॉर्म जारी करने से इनकार कर दिया। विभाग के अतिरिक्त कमिश्नर अखिलेश शुक्ला ने बताया कि VHP ने अपने आवेदन में यह लिखा था कि अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर निर्माण के लिए राम मंदिर ट्रस्ट इन पत्थरों का आयात कर रहा है। इसी आधार पर उसे इनकार किया गया। उन्होंने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट नेविवादित जगह पर यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। अगर हम मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों के आयात की इजाजत देते हैं, तो यह उच्चतम न्यायालय के आदेश का भी उल्लंघन होगा।’

TOPPOPULARRECENT