Tuesday , October 24 2017
Home / India / वीके सिंह के खिलाफ होगी सीबीआई जांच!

वीके सिंह के खिलाफ होगी सीबीआई जांच!

नई दिल्ली, 1 सितंबर: साबिक आर्मी चीफ जनरल वी के सिंह को लेकर एक अखबार ने सनसनीखेज दावा किया है अखबार के मुताबिक फौज ने सिंह पर उनके तरफ तश्कील सीक्रेट सर्विस यूनिट का इस्तेमाल खुफिया ऑपरेशन और गैरकानूनी सरगर्मियो में करने का इल्ज़ा

नई दिल्ली, 1 सितंबर: साबिक आर्मी चीफ जनरल वी के सिंह को लेकर एक अखबार ने सनसनीखेज दावा किया है अखबार के मुताबिक फौज ने सिंह पर उनके तरफ तश्कील सीक्रेट सर्विस यूनिट का इस्तेमाल खुफिया ऑपरेशन और गैरकानूनी सरगर्मियो में करने का इल्ज़ाम लगाया है अखबर के मुताबिक फौज ने वीके सिंह की बनाई सीक्रेट सर्विस यूनिट की जांच की सिफारिश की है |

सिंह पर इल्ज़ाम लगाया गया है कि इस सीक्रेट सर्विस फंड का इस्तेमाल खुफिया ऑपरेशन के लिए किया गया |

अखबार के मुताबिक फौज ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि इस फंड का इस्तेमाल उमर अब्दुल्ला की जम्मू-कश्मीर की हुकूमत को गैर मुस्तहकम बनाने में किया गया साथ ही वीके सिंह पर बिक्रम सिंह का रास्ता रोकने की भी कोशिश का इल्ज़ाम लगाया गया है, इसके इलावा कुछ इंटरसेप्शन आलात ( मशीन) की खरीदारी के लिए फंड के पैसे का इस्तेमाल किया गया, इन आलत का इस्तेमाल खुफिया ऑपरेशन के लिए किया जाना था अखबार के मुताबिक फौज का कहना है कि सीक्रेट सर्विस फंड के 8 करोड़ रुपये का हिसाब नहीं मिला है |

डिफेंस मिनिस्टर एके एंटनी व कई बड़े ओहदेदारान की फोन पर बातचीत टेप करने को लेकर इल्ज़ामात से घिरी फौज की इस यूनिट के कामकाज पर लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया की जांच रिपोर्ट वज़ारत को बीते दिनों सौंप दी गई हालांकि साबीक आर्मी चीफ के काम के दौर में बनी यूनिट के कामकाज की जांच के बारे में पूछे जाने पर फौज के हेड्क्वार्टर ने सिर्फ इतना कहा कि उनकी ओर से यह मामला बंद हो चुका है फौज के चीफ जनरल बिक्रम सिंह के कमान संभालने के बाद इसके कामकाज की जांच शुरू की गई थी.

हालांकि मामले पर तब्सिरा ज़ाहिर करते हुए फौज के साबिक चीफ जनरल वीके सिंह ने कहा कि यह सीधे तौर पर कुछ लोगों की ओर से की जा रही बदले की कार्रवाई है, खासतौर पर पिछले दिनों नरेंद्र मोदी के साथ साबिक फौजियो के बहबूद के लिए हुई रैली में मेरी हाजिरी को लेकर | उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अगर किसी ने यूनिट के कामकाज पर जांच के हुक्म दिए हैं तो यह गलत और गैर कानूनी है |

बताया जाता है कि रिपोर्ट में टीएसडी की तरफ से गैर कानूनी मुहिम्मात को लेकर सवाल उठाए गए हैं. इनमें सरहद -पार और जम्मू-कश्मीर में यूनिट की तरफ से चलाए गए कुछ मुहिम शामिल हैं साथ ही फंड के गलत इस्तेमाल के भी इल्ज़ाम हैं बीते साल मिलिट्री इंटेलिजेंस के खर्च में बेकायदा/फहद बढ़ोतरी पर इस वक्त के दिफा सेक्रेटरी शशिकांत शर्मा के सवाल उठाए जाने के बाद इस यूनिट के कामकाज को मुत्तल कर दिया गया था |

TOPPOPULARRECENT