Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / वीरप्पा मोईली और ग़ुलाम नबी आज़ाद के ख़िलाफ़ भी सीबीआई जांच‌ करे, तेल्गुदेशम लीडर वीरा भद्रा राव का मुतालिबा

वीरप्पा मोईली और ग़ुलाम नबी आज़ाद के ख़िलाफ़ भी सीबीआई जांच‌ करे, तेल्गुदेशम लीडर वीरा भद्रा राव का मुतालिबा

* हैदराबाद। ( सियासत न्यूज़) सीबीआई को चाहीए कि वो वीरप्पा मोईली और ग़ुलाम नबी आज़ाद के ख़िलाफ़ भी जगन के आमदनी से जयादा सम्पती मामले में मुक़द्दमा दर्ज करे।

* हैदराबाद। ( सियासत न्यूज़) सीबीआई को चाहीए कि वो वीरप्पा मोईली और ग़ुलाम नबी आज़ाद के ख़िलाफ़ भी जगन के आमदनी से जयादा सम्पती मामले में मुक़द्दमा दर्ज करे।

तेल्गुदेशम पार्टी के पोलीट ब्यूरो सदस्य‌ मिस्टर डी वीरा भद्रा राउ ने आज प्रैस कान्फ़्रैंस से बातचित‌ के दौरान ये बात कही। उन्हों ने बताया कि ग़ुलाम नबी आज़ाद और वीरप्पा मोईली ने डाक्टर वाईएसराज शेखर रेड्डी कि सत्ता के जमाने में रियासत आंधरा प्रदेश के एआईसीसी इंचार्ज सेक्रेटरी की ज़िम्मेदारी निभाई है।

इन दोनों एआईसीसी लिडरों ने डाक्टर वाईएस राज शेखर रेड्डी और उन के बेटे जगन मोहन रेड्डी की बदउनवानीयों को छिपाते हुए डाक्टर वाईएस राज शेखर रेड्डी को क्लीनचिट देने में अहम‌ किरदार अदा किया है।

उन्हों ने बताया कि तेल्गुदेशम पार्टी ने एक ज़िम्मेदार अप्पोज़ीशन की हैसियत से कइ मर्तबा डाक्टर वाईएस राज शेखर रेड्डी के हकूमत के जमाने में हुई बदउनवानीयों को पेश किया लेकिन उसे नजरअंदाज़ किया गया। उन्हों ने बताया कि ग़ुलाम नबी आज़ाद और वीरप्पा मोईली ने बाप बेटे के ताल्लुक़ से सिर्फ इस लिए ख़ामोशी इख़तियार की थी चूँकि पार्टी के आला लिडरों के लिए भी डाक्टर रेड्डी और उन के बेटे सूटकेस रवाना कर रहे थे।

डी वीरा भद्रा राउ ने मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद से मुतालिबा किया कि वो अपने ब‌यान की वज़ाहत करें कि आख़िर उन्हों ने डाक्टर राज शेखर रेड्डी के मुताल्लिक़ ये क्यों कहा था कि वो अपने दोस्त की कमी महसूस कर रहे हैं। जबकि उन के दौर में हुई बदउनवानीयां ओर बे क़ाईदगीयां लोगों के साम्ने आचुकी हैं। उन्हों ने बताया कि सीबीआई को चाहीए कि वो तुरंत‌ इन एआईसीसी लिडरों के ख़िलाफ़ भी जांच कि शुरुआत‌ करते हुए उन पर मुक़द्दमा दर्ज करे।

मिस्टर डी वीरा भद्रा राउ ने मुतालिबा किया कि डाक्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी की केबीनेट‌ में मौजूद तमाम मंत्रीयों के ख़िलाफ़ भी जगन मोहन रेड्डी के साथ मुक़द्दमा चलाया जाना चाहीए चूँकि लोगों के एतिमाद को इन लिडरों ने केबिनेट‌ में रहते हुए ठेस पहुंचाई है।

TOPPOPULARRECENT