Monday , October 23 2017
Home / India / शंघाई में हिंदूस्तानी सिफ़ारतकार से नारवा सुलूक

शंघाई में हिंदूस्तानी सिफ़ारतकार से नारवा सुलूक

बीजिंग, ०३: जनवरी ( पी टी आई ) शंघाई में मुक़ीम एक हिंदूस्तानी सिफ़ारतकार के साथ मुबय्यना बेजा सुलूक किया गया है और उसे दवाख़ाना में शरीक कर दिया गया है ।

बीजिंग, ०३: जनवरी ( पी टी आई ) शंघाई में मुक़ीम एक हिंदूस्तानी सिफ़ारतकार के साथ मुबय्यना बेजा सुलूक किया गया है और उसे दवाख़ाना में शरीक कर दिया गया है ।

इस वाक़िया पर हिंदूस्तान ने चीन के हुक्काम से एहतिजाज दर्ज करवाया है । कहा गया है कि 46 साला सिफ़ारतकार एस बाला चंद्रन ज़िया बत्तीस के मरीज़ हैं और वो एक अदालती समाअत के लिए शंघाई के क़रीब हाज़िर हुए थे ।

वो कमरा अदालत में ग़श खा कर गिर गए ताहम उन्हें अदालती कार्रवाई की तकमील तक कमरा अदालत से बाहर जाने की इजाज़त नहीं दी गई । उन की हालत बाद में मज़ीद ख़राब होगई और उन्हें एक दवाख़ाना में शरीक करना पड़ा जहां उन का ईलाज जारी है ।

ओहदेदारों ने बताया कि मिस्टर बाला चंद्रन दो हिंदूस्तानी ताजिरों के अग़वा के केस के सिलसिला में अदालत को गए थे । हकूमत-ए-हिन्द ने इस वाक़िया का सख़्त नोट लेते हुए बीजिंग में चीनी हुक्काम से और शंघाई के इलावा नई दिल्ली में भी अपना एहतिजाज दर्ज करवाया है ।

चीनी सिफ़ारतख़ाना के नायब सरबराह ज़हॉइंग यूई को वज़ारत-ए-ख़ारजा में तलब करके कहा गया कि जो तरीका-ए-कार इख़तियार किया गया वो सिफ़ारतकार के साथ रवा रखने का नहीं है । ज़राए ने कहा कि चूँकि मिस्टर बालाचनदरन ज़िया बत्तीस के मरीज़ हैं इस लिए उन्हें वक़फ़ा वक़फ़ा से ग़िज़ा का इस्तिमाल करना पड़ता है और उन्हें इस का मौक़ा दिया जाना चाहीए था ।

मिस्टर ज़हॉइंग ने तलबी के बाद बाहर निकलते हुए कहा कि वो ये मालूम करने की कोशिश करेंगे कि वाक़्यता वहां हुआ किया था । हिंदूस्तानी कौंसिल जनरल ने शंघाई में और हिंदूस्तानी सिफ़ारतख़ाना ने बीजिंग की वज़ारत-ए-ख़ारजा में एहतिजाज दर्ज करवाया है ।

TOPPOPULARRECENT