Tuesday , October 24 2017
Home / AP/Telangana / शबे बरात का ख़ुशू-ओ-ख़ुज़ू के साथ एहतेमाम

शबे बरात का ख़ुशू-ओ-ख़ुज़ू के साथ एहतेमाम

हैदराबाद 23 मई: शहरे हैदराबाद-ओ-रियासत तेलंगाना के मुख़्तलिफ़ अज़ला में शबे बरात का ख़ुशू-ओ-ख़ुज़ू के साथ एहतेमाम अमल में आया। शबे बरात के मौके पर शहर की मसाजिद के अलावा मर्कज़ी मुक़ामात पर जलसा फ़ज़ाइले शबे बरात का इनइक़ाद अमल में अमल में आया।

तारीख़ी मक्का मस्जिद के अमल शाही मस्जिद में भी जलसा फ़ज़ाइले शबे बरात का एहतेमाम किया गया। मक्का मस्जिद में मौलाना मुफ़्ती मुहम्मद क़ासिम सिद्दीक़ी तसख़ीर ने फ़ज़ाइले शबे बरात बयान किए। शाही मस्जिद में मौलाना हाफ़िज़ मुहसिन बिन मुहम्मद अलहमोमी ने फ़ज़ाइले शबे बरात पर ख़ुसूसी ख़िताब किया। मीलाद मैदान खिलवत मुबारक में कुल हिंद मर्कज़ी मीलाद कमेटी की तरफ़ से जलसा शबे बरात का एहतेमाम किया गया।

जामा मस्जिद चौक-ओ-जामा मस्जिद दारुलशफ़ा में इमारात मिल्लत-ए-इस्लामीया के ज़ेरे एहतेमाम मर्कज़ी जलसा शबे बरात का एहतेमाम अमल में आया। इन जलसों से मौलाना मुहम्मद हुसामुद्दीन सानी उल-मारूफ़ जाफ़र पाशाह ने फ़ज़ाइले शबे बरात बयान किए। मीलाद मैदान में मुनाक़िदा जल्सा-ए-आम से अल्लामा सय्यद मुहम्मद तनवीर हाश्मी और मौलाना मुहम्मद उम्र नूरानी के अलावा मुक़ामी मुक़र्ररीन ने ख़िताब किया।

दोनों शहरों के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर शबे बरात के मौके पर इजतेमाई दाये निसफ़ शाबान का एहतेमाम किया गया था। उल्मा ने जलसा शबे बरात से ख़िताब के दौरान उम्मते मुस्लिमा को अल्लाह के हुज़ूर रुजू होते हुए अपने गुनाहों से माफ़ी मांगने की तलक़ीन करते हुए कहा कि अल्लाह ने शाबान में इस रात के ज़रीये उम्मत को बख़शिश अता करने का फ़ैसला किया है। इन जलसा शबे बरात के मौके पर उलमाए किराम ने नौजवानों को मश्वरह दिया कि वो माह रमज़ान उल-मुबारक का ख़ुसूसी एहतेमाम करें। रमज़ान उल-मुबारक को अल्लाह ने उम्मते मुहम्मदीया के लिए तोहफ़ा दिया है , इस माह-ए-मुबारक के दौरान अल्लाह की रहमतों , बरकतों-ओ-मग़फ़िरत के हुसूल के लिए हमें तैयारी करनी चाहीए।

TOPPOPULARRECENT