Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / शराबनोशी करने वालों को घरों में खाना ना खिलाने का मश्वरा

शराबनोशी करने वालों को घरों में खाना ना खिलाने का मश्वरा

चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि ख़वातीन को सियासत में काफ़ी मवाक़े हैं । मुनज़्ज़म मंसूबा बंदी औ रपुख़्ता इरादा और अमल से मक़सद में कामयाबी होती है । शराब के ख़िलाफ़ मुहिम ख़वातीन अपने घरों से शुरू करें । शराब

चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि ख़वातीन को सियासत में काफ़ी मवाक़े हैं । मुनज़्ज़म मंसूबा बंदी औ रपुख़्ता इरादा और अमल से मक़सद में कामयाबी होती है । शराब के ख़िलाफ़ मुहिम ख़वातीन अपने घरों से शुरू करें । शराब पीने वाले अरकान ख़ानदान को खाना ना खिलाने का अज़म करें । घरों में लड़की और लड़के के दरमियान फ़र्क़ करना तर्क करें । असेंबली की क़दीम बिल्डिंग में शहर के मुख़्तलिफ़ कॉलिजस की तक़रीब से ख़िताब करते हुए इन ख़्यालात का इज़हार क्या ।

इस मौक़ा पर स्पीकर असेंबली मिस्टर इन मनोहर सदर नशीन क़ानूनसाज़ कौंसल डाक्टर चकरा पानी डिप्टी स्पीकर मिस्टर मिलो बटी विक्रामा रुक केइलावा ख़ातून वुज़रा और ख़ातून ओरकान असेंबली मौजूद थीं । मुख़्तलिफ़ कॉलिजस की तालिबात ने चीफ मिनिस्टर से नशा बन्दी , बदउनवानीयाँ और तहफ़्फुज़ात की ताईद-ओ-मुख़ालिफ़त के इलावा सरकारी कॉलिजस में सहूलतों के फ़ुक़दान वगैरह पर सवालात किए । चीफ मिनिस्टर ने कहा कि घर के उमूर में कामयाब रहने वाली ख़वातीन सियासी मैदान में मर्दों को ज़बरदस्त मुक़ाबला दे सकती हैं । कांग्रेस पार्टी नौजवान नसल बिलख़सूस ख़वातीन को सियासी मवाक़े फ़राहम करने के लिए राज्य सभा में 33 फीसद का बिल मंज़ूर कराया है ।

लोक सभा में भी बिल मंज़ूर होने की तवक़्क़ो है । अगर हर सियासी पार्टी अपने तौर पर 33 फीसद तहफ़्फुज़ात ख़वातीन को फ़राहम करती है तो ऐवानों में 50 फीसद ख़वातीन का दाख़िला यक़ीनी है । मगर सियासत आसान पेशा भी नहीं है अवामी मसाइल को हल करने के साथ साथ अवाम को एतिमाद में लेकर काम करना भी ज़रूरी होता है । जहां तक तालीम और मुलाज़मतों में तहफ़्फुज़ात की ताईद और मुख़ालिफ़त के सवालात हैं इस पर संजीदगी से ग़ौर करने की ज़रूरत है । तालीमी मआशी सियासी तौर पर पसमांदा तबक़ात को सतह ग़ुर्बत से ऊपर उठाने के लिए तहफ़्फुज़ात फ़राहम किए गए हैं ।

रियासती हुकूमत सतह ग़ुर्बत से नीचे ज़िंदगी गुज़ारने वाले समाज के तमाम तबक़ात पर मुश्तमिल 27 लाख तलबा को फीस रीइम्ब्रेस्मेंट और स्कालर शिपस वगैरह पर सालाना 3500 करोड़ रुपये ख़र्च करती है । शराब पर इमतिना के ताल्लुक़ से रियासत में पहले तजुर्बा किया गया है लेकिन इस के बदले में ना कशीदा कारी शराब पीने से बड़े पैमाने पर अम्वात हुई हैं एक तालिब-ए-इल्म ने दुबई वगैरह में शराब पर इमतिना आइद रहने क़ानून की ख़िलाफ़वरज़ी करने पर गोली मार देने का हवाला देते हुए रियासत पर अमल करने पर ज़ोर दिया ।

चीफ मिनिस्टर की जानिब से तय्क्कुन के बजाय अमल करने का वाअदा करने का मुतालिबा किया । जिस पर चीफ मिनिस्टर ने मुस्कुरा कर कहा कि हिंदूस्तान एक जमहूरी मुल्क है रियासती हुकूमत शराब पर आहिस्ता आहिस्ता इमतिना आइद करने की कोशिश कररही है । शराब के ख़िलाफ़ मुहिम चलाने के लिये 50 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए हैं और आइन्दा जून से शराब की दोकानात पर कमी करने के इक़दामात कररहे हैं ख़वातीन भी इस में अहम रोल अदा करसकती है घर में शराब पीने वाले ओरकान ख़ानदान को खाना ना देने का फैसला करलें ।

तबदीली पहले अपने आप में करें । बदउनवानीयों के ख़ातमा के लिए हुकूमत कमर बस्ता होगई है । ज़िला चित्तूर में मी सेवा स्कीम के तहत एक प्रोग्राम शुरू किया गया है जिस के तहत एक छत के नीचे 50 मुख़्तलिफ़ सरटिफ़िकटस जैसे पैदाइश अम्वात , इनकम वगैरह के सरटिफ़िकटस जारी किए जाएंगे । आइन्दा 2 माह के बाद सारी रियासत में इस तरह के सैंटरस क़ायम किए जाएंगे ।

एक तालिबा ने हिंदूस्तान के तरक़्क़ीसे महरूम होने का दावा किया इस से ना इत्तिफ़ाक़ करते हुए चीफ मिनिस्टर ने कहा कि सदर अमरीका मिस्टर ओबामा ने अपने मुल्क के तलबा से ख़िताब करते हुए कहा कि तालीम पर ख़ुसूसी तवज्जा दें वर्ना अहम शोबों में हिंदूस्तानियों और चीन वालों का क़बज़ा होजाएगा । इन्फॉर्मेशन टैक्नालोजी के इन्क़िलाब ने मालूमात का ख़ज़ाना फ़राहम कर दिया है । इस से किस तरह फ़ायदा उठाते हैं ये तलबा पर मुनहसिर है ।।

TOPPOPULARRECENT