Friday , July 28 2017
Home / Bihar News / शराबबंदी की कामयाबी के अब दहेजबंदी बिहार बनने की ओर बिहार

शराबबंदी की कामयाबी के अब दहेजबंदी बिहार बनने की ओर बिहार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ बिहार देश को दिशा दे रहा है। राज्य में पूर्ण नशाबंदी के बाद अब दाे अक्तूबर से दहेज और बाल विवाह के विरुद्ध सघन अभियान चलाया जायेगा। वह मंगलवार को मुंगेर जिले के खड़गपुर के खैरा गांव में आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर उन्होंने 35.60 करोड़ की लागत से बनी फ्लोराइड मुक्त खैरा जलापूर्ति बहुग्रामीय परियोजना का उद‍्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में सामाजिक परिवर्तन का दौर चल रहा है। हमने पहले राज्य में शराबबंदी की और फिर बिहार को पूर्ण नशामुक्त किया है।

पूर्ण नशामुक्ति के बाद राज्य में खुशहाली लौटी है और सामाजिक परिवर्तन साफ दिखायी दे रहा है। उन्होंने कहा कि अब हम दहेजमुक्त समाज बनाने के लिए अभियान चलायेंगे और बाल विवाह जैसी कुरीति से राज्य को मुक्त करेंगे।

उन्होंने लोगों से अपील की कि वे दहेज प्रथा का विरोध करें और न दहेज दें और न दहेज लें। उन्होंने कहा कि जिस शादी में दहेज लिया जाये, वैसे उसका बहिष्कार करें।

मुख्यमंत्री ने कहा, पांच जून, 2010 को जब मैं विश्वास यात्रा के दौरान खैरा आया था, तो यहां की दशा देख कर द्रवित हो गया था। 50-60 लोग फ्लोराइड युक्त पेयजल पीने के कारण बीमार थे।

उसी समय मैंने घोषणा की थी कि इस गांव को फ्लोराइड मुक्त पेयजल उपलब्ध करायेंगे। आज मेरा यह सपना पूरा हुआ। उन्होंने कहा कि सरकार शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सभी घरों को नल के जरिये का शुद्ध पेयजल उपलब्ध करायेगी।

TOPPOPULARRECENT