Tuesday , October 24 2017
Home / India / शशी थरूर कांग्रेस तर्जुमान के ओहदे से बर्ख़ास्त

शशी थरूर कांग्रेस तर्जुमान के ओहदे से बर्ख़ास्त

सोनिया ने तादीबी कमेटी की सिफ़ारिशात क़बूल करलीं, केरला कांग्रेस की शिकायत पर इक़दाम

सोनिया ने तादीबी कमेटी की सिफ़ारिशात क़बूल करलीं, केरला कांग्रेस की शिकायत पर इक़दाम

कांग्रेस ने आज शशी थरूर को पार्टी के तर्जुमान के ओहदे से अलाहदा कर दिया क्योंकि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी की उनकी जानिब से सताइश को पार्टी की केरला शाख़ ने पसंद नहीं किया था। सदर कांग्रेस सोनिया गांधी ने तादीबी कमेटी की सिफ़ारिशात क़बूल करलीं कि शशी थरूर को तर्जुमान के ओहदे से फ़ौरी बर्ख़ास्त कर दिया जाये।

केरला प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने तादीबी कमेटी को इस बारे में रिपोर्ट पेश की थी। पार्टी के जनरल सेक्रेटरी जनार्धन द्रिवेदी ने अपने सहाफ़ती बयान में कहा कि केरला प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चंद दिन क़ब्ल कुल हिंद कांग्रेस कमेटी को थरूर के ख़िलाफ़ एक रिपोर्ट पेश करते हुए उन्हें पार्टी तर्जुमान के ओहदे से बर्ख़ास्त करदेने की सिफ़ारिश की थी, क्योंकि नरेंद्र मोदी की सताइश से कांग्रेस कारकुनों के जज़बात मजरूह हुए हैं।

इस इक़दाम पर तंज़ करते हुए शशी थरूर ने कहा था कि इस का मतलब ये होगा कि रियासती क़ियादत ज़बानी खुलासों के बजाय दरहक़ीक़त तहरीर का मुतालिबा कररही है। केरला कांग्रेस की शिकायत एक ऐसे वक़्त सामने आई जबकि शशी थरूर ने वज़ीर-ए-आज़म की स्वच्छ भारत मुहिम का ब्रांड एंबेसिडर बनने की पेशकश क़बूल करली थी।

जब वज़ीर-ए-आज़म अमरीका के दौरे पर थे, तो शशी थरूर भी अमरीका पहुंच गए थे और कई टी वी चैनल्स‌ पर देखे गए थे। पार्टी ज़राए के बमूजब कांग्रेस ने उन्हें वज़ीर-ए-आज़म मोदी के दौरे अमरीका के मौक़े पर वहां मौजूद रहने की ज़िम्मेदारी उन्हें नहीं सौंपी थी। थरूर गुज़िश्ता जून से ही ज़राए इब्लाग़ से कोई रब्त नहीं पैदा कररहे थे।

मोदी की तारीफ़ से कांग्रेस में बड़े पैमाने पर तनाज़ा पैदा होगया था। शशी थरूर ने कहा कि अगर उनकी पार्टी मोदी की कोशिशों का नोट नहीं लेती और उन्हें जदीदीयत और तरक़्क़ी का अवतार मानने के बजाय नफ़रतअंगेज़ शख़्सियत क़रार देती है तो वो इस से मुत्तफ़िक़ नहीं हैं।

कांग्रेस ने फ़ौरी रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा था कि ये शशी थरूर का शख़्सी नज़रिया है। पार्टी ने कहा था कि ज़राए इब्लाग़ से बात करते वक़्त शशी थरूर को ये ज़हन नशीन रखना चाहिए कि वो पार्टी के अहम ओहदे पर हैं चुनांचे पार्टी मुफ़ादात उनकी अव्वलीन तर्जीह होनी चाहिऐं। तादीबी कमेटी ने केरला कांग्रेस की सिफ़ारिश पर आख़िर-ए-कार उन्हें तर्जुमान के ओहदे से अलाह‌दा कर दिया।

TOPPOPULARRECENT