Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / शहर की पुरअमन फ़िज़ा को मुतास्सिर करने की कोशिशें साज़िश का हिस्सा

शहर की पुरअमन फ़िज़ा को मुतास्सिर करने की कोशिशें साज़िश का हिस्सा

हालिया दिनों में पेश आए फ़िर्कावाराना वाक़ियात की रोक थाम में रियासती हुकूमत और महिकमा पुलिस के खु़फ़ीया इदारों को नाकाम क़रार देते हुए साबिक़ा रुक्न (सदस्य) पार्ल्यमंट राज्य सभा-ओ-सिनयर कमीयूनिसट क़ाइद सय्यद अज़ीज़ पाशा ने कह

हालिया दिनों में पेश आए फ़िर्कावाराना वाक़ियात की रोक थाम में रियासती हुकूमत और महिकमा पुलिस के खु़फ़ीया इदारों को नाकाम क़रार देते हुए साबिक़ा रुक्न (सदस्य) पार्ल्यमंट राज्य सभा-ओ-सिनयर कमीयूनिसट क़ाइद सय्यद अज़ीज़ पाशा ने कहा कि शरपसंद अनासिर कई दिनों से शहर की पुरअमन फ़िज़ा को मुतास्सिर करने की मुनज़्ज़म अंदाज़ में कोशिश कर रहे हैं ।

और इन तमाम वाक़ियात से वाक़फ़ियत के बावजूद पुलिस इंतिज़ामीया की मुजरिमाना ख़ामोशी फ़िर्क़ा परस्तों के मंसूबों को अमली जामा पहनाने का काम कर रही है ।

अज़ीज़ पाशा ने तारीख़ी चारमीनार के दामन में क़ायम की गई भाग्य लक्ष्मी मंदिर की तौसीअ(विसतार) और तामीर को गैर कानूनी क़रार देते हुए कहा कि

महिकमा आसार क़दीमा के क़वानीन के मुताबिक़ तारीख़ी इमारतों के अतराफ़-ओ-अकनाफ़ में कई सौ मीटर तक किसी भी किस्म की तामीर से बाज़ रहने का अहकामात हैं

इस के बावजूद शहर हैदराबाद की पहचान समझी जाने वाली क़दीम तारीख़ी इमारत में शिगाफ़ के ज़रीया मंदिर की तौसीअ(विसतार)-ओ-तामीर एक काबिल-ए-मुज़म्मत इक़दाम है ।

अज़ीज़ पाशा ने मुशीराबाद , सब्ज़ी मंडी , चारमीनार के इलावा शहर के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में पेश आए फ़िर्कावाराना वाक़ियात के ज़िमन(बारे) में पेश आई गिरफ्तारियों के बेक़सूर नौजवानों की फ़ौरी रिहाई का मुतालिबा भी किया है ।

TOPPOPULARRECENT