Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / शहर के हालात पुलिस और हुकूमत का फ़सताई रोल , जमात-ए-इस्लामी

शहर के हालात पुलिस और हुकूमत का फ़सताई रोल , जमात-ए-इस्लामी

जनाब मुहम्मद ख़्वाजा आरिफ़ उद्दिन अमीर हलक़ जमात-ए-इस्लामी हिंद आंध्र प्रदेश उड़ीसा ने हैदराबाद के बिगड़ते हालात पर अपनी तशवीश का इज़हार करते हुए पुलिस और रियासती हुकूमत के फ़सताई रोल की मुज़म्मत की ।

जनाब मुहम्मद ख़्वाजा आरिफ़ उद्दिन अमीर हलक़ जमात-ए-इस्लामी हिंद आंध्र प्रदेश उड़ीसा ने हैदराबाद के बिगड़ते हालात पर अपनी तशवीश का इज़हार करते हुए पुलिस और रियासती हुकूमत के फ़सताई रोल की मुज़म्मत की ।

उन्हों ने कहा के चंद दिन पहले तारीख़ी इमारत चारमीनार से मुत्तसिल मंदिर की तौसी के तनाज़े पर हाईकोर्ट ने ढांचा पर 30 अक्टूबर का मौकुफ़ बरक़रार रखने के एहकामात जारी किए थे ।

आसार क़दीमा ने तहरीरी तौर से रिपोर्ट दी के 30 अक्टूबर को इस मंदिर के ऊपर छत थी । पुलिस इंतेज़ामीया ने बगैर तहरीर की सदाक़त को जांचे मंदिर कमेटी को छत डालने की इजाज़त दी ताके इस गैरकानूनी तामीर को क़ानूनी जवाज़ फ़राहम किया जा सके ।

उन्हों ने कहा के अगर वहां छत थी जैसा के आसार क़दीमा ने अपनी तहरीर में ज़िक्र किया है तो पुलिस इस बात की वज़ाहत करे के वो छत कब और किस ने निकाली । पुलिस के पास उस की तमाम तफ़सीलात मौजूद होनी चाहीए ।

30 अक्टूबर 2012 की रिपोर्ट पर 11 नवंबर 2012 को सख़्त हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात में पुलिस अपनी निगरानी में इस पर अमल करती है । अदालती एहकामात की इस सरिया ख़िलाफ़वरज़ी और हुकूमत और पुलिस इंतेज़ामीया की मिली भगत से एक एसे मंदिर की तौसी की जाती है जिसका क़ियाम ख़ुद अदालती एहकामात के मुग़ाइर है ।।

TOPPOPULARRECENT