Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / शहर हैदराबाद में आई टी रीजन के क़ियाम को मंज़ूरी

शहर हैदराबाद में आई टी रीजन के क़ियाम को मंज़ूरी

अलाहिदा तेलंगाना के मसले पर पिछ्ले चंद साल से ग़ैर यक़ीनी के शिकार तारीख़ी शहर हैदराबाद के लिए एक तवील अर्सा एक ख़ुशख़बरी आई है।

अलाहिदा तेलंगाना के मसले पर पिछ्ले चंद साल से ग़ैर यक़ीनी के शिकार तारीख़ी शहर हैदराबाद के लिए एक तवील अर्सा एक ख़ुशख़बरी आई है।

हैदराबाद मुल्क में इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी के अहम तरीन मराकज़ समझे जाने वाले चंद तरक़्क़ी याफ़ता शहरों में शुमार किया जाता है। इस एहमीयत को देकते हुए मर्कज़ी काबीनी कमेटी बराए इक़तिसादी उमूर (सी सी ई ए) ने जुमा को हैदराबाद के लिए एक बड़े प्रोजेक्ट की तजवीज़ पेश को मंज़ूरी दी है जिस के मुताबिक़ हैदराबाद के मुज़ाफ़ात में 2.19 लाख करोड़ रुपये के मसारिफ़ से इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी रीजन के क़ियाम की राह हमवार होगई है।

हैदराबाद में दुनिया के चंद बड़े आई टी ब्रैंड्स पहले से मौजूद हैं, लेकिन मसला तेलंगाना पर हालिया चंद बरसों से जारी तात्तुल के सबब शहर की आई टी सरगर्मीयां भी सुस्त रवी का शिकार रही हैं।

तेलंगाना की ताईद-ओ-ख़ालफ्त में जलूसों और गड़बर के सबब कई बड़ी आलमी आई टी कंपनीयों ने इस शहर में अपनी सरगर्मीयों को महिदूद कर दिया था जो चंद दूसरी बड़ी आलमी कंपनीयों ने दूसरे शहरों में अपनी शाख़ों के क़ियाम को तर्जीह दी।

चंद बड़ी कंपनीयां पड़ोसी बैंगलौर या पुने को मुंतक़ली की अब भी धमकीयां दे रही हैं। इन हालात में आई टी आई आर के क़ियाम की तजवीज़ को काबीनी कमेटी की मंज़ूरी हैदराबाद के लिए इंतेहाई ख़ुश आइंद और हौसला अफ़्ज़ा-ए-होगी क्यूंकि आई टी आई आर ना सिर्फ़ इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी से मुताल्लिक़ उमूर तक महिदूद नहीं हो बल्कि वहां प्रडक्शन यूनिट्स, लॉजिस्टिक्स, मफ़ाद-ए-आम्मा की ख़िदमात, तहफ़्फ़ुज़ माहौर्लियात का मेकानिज़म, रिहायशी इलाक़े और इंतेज़ामी ख़िदमात भी शामिल रहेंगे।

हुकूमत आंध्र प्रदेश में महिकमा इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलोजी के ओहदेदारों के मुताबिक़ मंज़ूरा आई टी आई आर में ख़ुसूसी मआशी ज़ोंस, सनअती पार्कस, फ़्री ट्रेड ज़ोंस, वीर हाज़ोंस, बरामदात पर मबनी यूनिट्स वग़ैरा भी होंगे।

इस मक़सद के लिए 50,000 एकड़ (02 कीलोमीटर) अराज़ी मुख़तस की गई है। प्रोजेक्ट से 15 लाख अफ़राद को रास्त रोज़गार फ़राहम होगा।

2018 में पहले मरहले का आग़ाज़ होगा। आई टी बरामदात में आंध्र प्रदेश का हिस्सा 12.4 फ़ीसद है। आई टी कारकर्दगी में आंध्र प्रदेश को मुल्क में चौथा मुक़ाम हासिल है।

साल 2011-12के दौरान आंध्र प्रदेश के आई टी शोबा का कारोबार 53,256 करोड़ रुपये रहा है। बैंगलौर के बाद हैदराबाद मुल्क का दूसरा बड़ा आई टी मर्कज़ है, जहां गूगल, माईक्रो साफ़्ट और दुसरे आलमी आई टी इदारे मौजूद हैं।

TOPPOPULARRECENT