Friday , September 22 2017
Home / India / एक के बदले 10 सर काटने का वादा कब पूरा करेंगे मोदी: शहीद के पिता

एक के बदले 10 सर काटने का वादा कब पूरा करेंगे मोदी: शहीद के पिता

PC: Jansatta

राजस्थान: जोधपुर में जन्मे राइफलमैन प्रभु सिंह बुधवार को 25 साल के हो जाते लेकिन कुदरत को शायद कुछ और ही मंजूर था। जन्मदिन की सालगिरह से महज एक दिन पहले कश्मीर के माछिल सेक्टर में पाकिस्तानियों के हमले में शहीद होने वाले ३ जवानों में प्रभु सिंह भी एक थे।

बेटे के शहीद होने की खबर जब से गाँव और घर तक पहुंची है तब से ही प्रभु सिंह के घर मातम पसरा है। शहीद के परिवार का कहना है कि सरकार को अब पाकिस्तान से सख्ती से निपटना चाहिए, नहीं तो देश के रखवाले जवान यूं ही मरते रहेंगे। पीएम मोदी के चुनावी वादे जिसमें उन्होंने एक सिर के बदले 10 सिर लाने की बात कही थी की बात करते हुए शहीद प्रभु सिंह के पिता चंद्र सिंह का कहना है कि वो पीएम के इस चुनावी वादे में कोई दम नहीं है। उन्होंने कहा देश में प्रधानमंत्री के पद पर आसीन व्यक्ति से लोगों को काफी उम्मीदें होती हैं और प्रधानमंत्री को उन उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए कदम उठाने ही होंगे।

माछिल सेक्टर में शहीद हुए प्रभु सिंह अपने पीछे विधवा बीवी, 10 महीने की मासूम बेटी, अपने बुजुर्ग माँ-बाप और दो कुंवारी बहनों को छोड़ गए हैं। शहीद के पिता चंद्र सिंह का कहना है कि जब प्रभु सिंह पैदा हुआ था उन्होंने तभी फैसला कर लिया था कि इसे फौज में भेजेंगे। उनका परिवार 100 से भी ज्यादा सालों से देश की सेवा में लगा हुआ है। चंद्र सिंह का कहना है कि देश की सेवा करना उनके परिवार की परंपरा रही है।

सेना के अधिकारियों के सामने बड़ा सवाल यह है कि परिवार को शहीद का बुरी तरह से खराब किया गया चेहरा दिखाया जाए या नहीं। कुछ लोगों का कहना है कि परिवार को आखिरी बार चेहरा देखने का मौका जरूर दिया जाना चाहिए। वहीं, अधिकारियों को डर है कि इससे कुछ लोगों का गुस्सा भड़केगा।

TOPPOPULARRECENT