Monday , October 23 2017
Home / Bihar News / शातिर बैंक डकैत छोटू खां की हो रही तलाश

शातिर बैंक डकैत छोटू खां की हो रही तलाश

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, फतुहा में मंगल को हुई एक करोड़ लूट मामले में ड्राइवर मुन्ना (सबलपुर) पर भी पुलिस को वाकिया में शामिल होने का शक है। क्योंकि मुन्ना ने जिस बोलेरो की शिनाख्त की थी, वह बोलेरो शादी तकरीब से सामान ले कर लौट रही थी।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, फतुहा में मंगल को हुई एक करोड़ लूट मामले में ड्राइवर मुन्ना (सबलपुर) पर भी पुलिस को वाकिया में शामिल होने का शक है। क्योंकि मुन्ना ने जिस बोलेरो की शिनाख्त की थी, वह बोलेरो शादी तकरीब से सामान ले कर लौट रही थी। जबकि तहक़ीक़ात में यह बात सामने आयी है कि वहीं कुछ दूरी पर एक और सफेद रंग की बोलेरो खड़ी थी। पुलिस को शक है कि जिस बोलेरो से वाकिया को अंजाम दिया गया था, वह वही बोलेरो थी, लेकिन मुन्ना ने उसके बजाय दूसरे बोलेरो की शिनाख्त की थी।

नालंदा की तरफ निकल गये मुजरिम

मुजरिम वाकिया को अंजाम देने के बाद नालंदा की तरफ से निकल गये हैं। फतुहा से चंडासी जाने के दरमियान ही अब्दुल्लाह चक गांव से एक रास्ता नालंदा बॉर्डर पर निकलता है। इस वजह से पुलिस को पूरी तरह शक है मुजरिम सहोरा गांव के मोड़ पर कैश बॉक्स को फेंक कर फरार हो गये। पटना पुलिस की टीम ने पटना-मसौढ़ी रास्ते पर काफी देर तक इस बात की छानबीन की कि बोलेरो इस रास्ते से गुजरी है या नहीं? यह भी खदशा किया जा रहा है कि मुजरिम अगर नालंदा नहीं निकले होंगे तो वे फतुहा व चंडासी के दरमियान ही कहीं किसी गांव में रुके हैं। इस वाकिया के होने के बाद पुलिस ने पटना व उसके सटे मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, जहानाबाद, आरा के बैंक डकैतों की खोजबीन शुरू कर दी है।

कुख्यात बैंक डकैत प्रेम साहनी की जब तलाश की गयी, तो पता चला कि वह उड़ीसा के जेल में कैद है। इसने अगमकुआं के कांटी फैक्ट्री रोड में पंजाब नेशनल बैंक के सामने ही कैश भान से 50 लाख की लूट की थी। अगमकुआं पुलिस ने मुंबई में हुए एक बैंक लूट के मामले में छोटू खां को पकड़ा था और उसे मुंबई पुलिस के हवाले कर दिया था। पुलिस ने उसके अगमकुआं वाकेय रिहाइशगाह से लेकर उसके तमाम ठिकानों पर छापेमारी की, लेकिन वह ट्रेस लेस था। दीदार गंज के जिस मुजरिम टेनी का नाम सामने आ रहा था, वह भी गायब है। इस सिलसिले में एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पैसों को इधर से उधर ले जाया जा रहा है और किसी तरह की हिफाजत की निज़ाम नहीं की जा रही है। न ही सेक्युर्टी मुलाज़िमीन का असलाह और तसदीक़ किया जा रहा है। सिक्यूरिटी एजेंसी की तरफ से करवाया जा रहा है, यह काफी संगीन मसला है।

लाइसेंस फर्जी होने के साथ ही असलाह भी फर्जी
दोनों गार्ड संजय कुमार व राजकुमार के असलाह का लाइसेंस फर्जी होने के बाद यह वाजेह हो गया है कि उनलोगों का असलाह भी फर्जी है। लेकिन दोनों ने असलाह की खरीद कहां से की है, इस सिलसिले में पूछताछ की जा रही है। दोनों गार्डो ने पुलिस को बताया कि उन लोगों ने पटना में ही असलाह की खरीद की है।

बैंक के सीसीटीवी कैमरे से नहीं मिला सुराग

पुलिस ने बुध को मछुआटोली वाकेय यूनियन बैंक के बाहर और अंदर लगे सीसीटीवी कैमरा के वीडियो फुटेज को खंगाला। लेकिन उसमें फिलहाल किसी मुजतबा की तसवीर हाथ नहीं लगी है। पुलिस को पूरी तरह शक है कि पैसे ले जाने की इत्तिला एक दिन पहले ही लीक हुई है या फिर उसमें कैश वैन में सवार लोगों का हाथ है।

TOPPOPULARRECENT