Wednesday , October 18 2017
Home / Business / शादां इंस्टीटियूट आफ़ मैडीकल साइंसेस पर आलमी यौम सी ओ पी डी

शादां इंस्टीटियूट आफ़ मैडीकल साइंसेस पर आलमी यौम सी ओ पी डी

हैदराबाद । 18 । नवंबर : ( प्रैस नोट ) : शादां इंस्टीटियूट आफ़ मैडीकल साइंसेस टीचिंग हॉस्पिटल ऐंड रिसर्च सैंटर हैदराबाद-ओ-सिकंदराबाद का बनी नौए इंसान की ख़िदमत में मसरूफ़ एक मशहूर हॉस्पिटल है । क्रॉनिक आ बस्टर किट्स पलीमनरी डीज़ीनर सी ओ

हैदराबाद । 18 । नवंबर : ( प्रैस नोट ) : शादां इंस्टीटियूट आफ़ मैडीकल साइंसेस टीचिंग हॉस्पिटल ऐंड रिसर्च सैंटर हैदराबाद-ओ-सिकंदराबाद का बनी नौए इंसान की ख़िदमत में मसरूफ़ एक मशहूर हॉस्पिटल है । क्रॉनिक आ बस्टर किट्स पलीमनरी डीज़ीनर सी ओ पी डी दुनिया भर में हलाकतों की छुट्टी सब से बड़ी वजह है । तनफ़्फ़ुस में कुहना रुकावट के इस मर्ज़ की आजलाना तशख़ीस इस के ईलाज में बहुत मददगार साबित होती है ।

शादां इंस्टीटियूट पर 17 नवंबर को आलमी यू सी ओ पी डी मनाया गया । हॉस्पिटल के पल्लमना लो जस्ट डाक्टर सी इश्वर प्रसाद ने इस मौक़ा पर अपने ख़िताब में कहा कि इस मर्ज़ की अलामात दम फूलना , खांसी , बलग़म के साथ खांसी , सांस लेते वक़्त आवाज़ वग़ैरा हैं । इस की रोक थाम के लिए सिगरेट नोशी तर्क करना , गाड़ी चलाने वाले तातीलात के दिन गाड़ियां रोकना , गाड़ीयों की आलूदगी की बाक़ायदा जांच करवाना , कार पोलिंग , जदीद ईंधन जैसे सी एन जी का इस्तिमाल , रोज़ाना अवामी ट्रांसपोर्ट जैसे मेट्रो रेल का ज़्यादा इस्तिमाल और दफ़्तरी-ओ-स्कूली हुजूम के औक़ात से गुरेज़ ज़रूरी है ।।

TOPPOPULARRECENT