Monday , September 25 2017
Home / Crime / शामी क़स्बे पर हमले में ज़हरीली गैस का इस्तेमाल

शामी क़स्बे पर हमले में ज़हरीली गैस का इस्तेमाल

कीमीयाई हथियारों के माहिरीन का कहना है कि रवां साल अगस्त में शुमाली शाम के क़स्बे में मस्टर्ड गैस का इस्तेमाल हुआ। जुमे को कीमीयाई हथियारों की रोक-थाम की तंज़ीम, ओ पी सी डब्लयू की रिपोर्ट में बताया गया कि मारीया नामी क़स्बे में कैमीकल एजेंट का इस्तेमाल हुआ।

शिद्दत-पसंद तंज़ीम दौलते इस्लामीया पर इल्ज़ाम है कि ये ज़हरीली गैस उसने एक बाग़ी गिरोह के ख़िलाफ़ लड़ते हुए इस्तेमाल की। रिपोर्ट में बताया गया है कि बहुत ग़ालिब हद तक इमकान है कि एक बच्चा इसी गैस के इस्तेमाल से हलाक हुआ।

तिब्बी इमदाद के इदारे मैडीसन संस फ्रंटियर्स का कहना है कि ये हमला 21 अगस्त को हुआ जिसके बाद उनकी जानिब से एक ख़ानदान के चार अफ़राद को तिब्बी इमदाद फ़राहम की।

TOPPOPULARRECENT