Monday , October 23 2017
Home / World / शाम इंसानी बुनियादों पर इमदाद के लिए रसाई दे – सलामती कौंसिल

शाम इंसानी बुनियादों पर इमदाद के लिए रसाई दे – सलामती कौंसिल

अक़वामे मुत्तहिदा की सलामती कौंसिल ने शामी हुकूमत से अपील की है कि वो बैनुल अक़वामी इमदादी इदारों को शाम में इंसानी बुनियादों पर इमदाद की तरसील के लिए तमाम इलाक़ों तक रसाई दे।

अक़वामे मुत्तहिदा की सलामती कौंसिल ने शामी हुकूमत से अपील की है कि वो बैनुल अक़वामी इमदादी इदारों को शाम में इंसानी बुनियादों पर इमदाद की तरसील के लिए तमाम इलाक़ों तक रसाई दे।

अक़वामे मुत्तहिदा के मुताबिक़ शाम में गुज़िश्ता ढाई बर्सों से जारी मुसल्लह तनाज़े की वजह से कई मिलयन अफ़राद इंसानी बुनियादों पर इमदाद के मुंतज़िर हैं, ताहम उन तक इमदाद की फ़राहमी अब तक मसाइल का शिकार है। अक़वामे मुत्तहिदा की इस अपील में बशारुल असद हुकूमत से कहा गया है कि वो मुल्क के तमाम इलाक़ों में इंसानी बुनियाद पर इमदाद के लिए रसाई दे। सलामती कौंसिल के सदारती ब्यान के मुताबिक़ इस इमदाद की ज़रूरत को फ़ौरी और भरपूर क़रार दिया गया है।

सलामती कौंसिल की ये अपील इस क़रारदाद की मंज़ूरी के सिर्फ़ पाँच रोज़ बाद सामने आई है, जिस में इस ने मुत्तफ़िक़ा तौर पर शाम को तमाम कीमीयाई हथियारों के ख़ात्मे के लिए कहा था।

ताहम ये भी कहा कि किसी मुत्तफ़िक़ा क़रारदाद तक पहुंचने के लिए वक़्त दरकार होता जबकि शाम में फ़ौरी इमदादी कार्यवाईयों की ज़रूरत है। इस ब्यान में तय कर्दा अज़म और अमली इक़दामात पर अमल से इमदादी कारकुन उन दो मिलयन अफ़राद तक पहुंचने में कामयाब हो जाएगे, जो कई माह से इमदाद की राह देख रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT