Tuesday , October 24 2017
Home / Islami Duniya / शाम को इरानी अस्लाह की सरबराही ,कार्रवाई का मुतालिबा

शाम को इरानी अस्लाह की सरबराही ,कार्रवाई का मुतालिबा

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा, 17 जुलाई: (ए एफ पी) अमेरीका की ज़ेर क़ियादत मग़रिबी ममालिक ने इरान से शाम और उसकी लेबनानी हलीफ़ नियम फ़ौजी तंज़ीम हिज़्बुल्लाह को हथियारों की सरबराही के ख़िलाफ़ ज़्यादा सख़्त कार्रवाई का मुतालिबा किया है । ये मुतालिबे कल म

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा, 17 जुलाई: (ए एफ पी) अमेरीका की ज़ेर क़ियादत मग़रिबी ममालिक ने इरान से शाम और उसकी लेबनानी हलीफ़ नियम फ़ौजी तंज़ीम हिज़्बुल्लाह को हथियारों की सरबराही के ख़िलाफ़ ज़्यादा सख़्त कार्रवाई का मुतालिबा किया है । ये मुतालिबे कल मंज़रे आम पर आए जबकि रूस ने अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की कमेटी के मुत्तफ़िक़ा फैसले को रोक दिया था कि ईरान की जानिब से बलास्टिक मीज़ाईल का तजुर्बा बैनुल अक़वामी तहदेदात की ख़िलाफ़वर्ज़ी है।

सिफ़ारतकारों ने कहा कि हुकूमत अमेरीका ने अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की सलामती कौंसल पर और उसकी तहदेदात कमेटी पर ज़ोर दिया है कि इरान की मुबय्यना अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के इक्दामात के ज़्यादा जोश और जज़बे के साथ मुबय्यना ख़िलाफ़वरज़ी के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाये।

अमेरीका की कारगुज़ार सफ़ीर रोज़ मेरी डाय कार्लो ने कहा कि कमेटी को चाहिए कि इरानी अस्लाह , फ़ौजी ताईद , शाम, लेबनान, ग़ज़ा, यमन , इराक़ और इस से मावरा इलाक़ों में ग्रुप्स को इरानी अस्लाह की मुसलसल सरबराही और तरबियत-ओ-मश्वरे जारी हैं जिनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जानी चाहीए । इरान सदर बशर अल असद की हुकूमत को तवील मुद्दत से अस्लाह सरबराह करता आ रहा है।

ये जानते हुए भी कि उन्हें शामी अवाम के क़त्ल-ए-आम में इस्तेमाल किया जाएगा। अमेरीका की सफ़ीर ने कहा कि यमन के साहिल पर जनवरी में इरानी अस्लाह ज़ब्त किए गए थे। ये तहदेदात की ख़िलाफ़वरज़ी भी नहीं बल्कि यमन की उबूरी हुकूमत के इख़्तेयारात कम करने के मुतरादिफ़ है।

TOPPOPULARRECENT