Tuesday , October 17 2017
Home / Islami Duniya / शाम को मुबस्सिरीन की रवानगी की क़रारदाद अक़्वाम मुत्तहदा में मुत्तफ़िक़ा तौर पर मंज़ूर

शाम को मुबस्सिरीन की रवानगी की क़रारदाद अक़्वाम मुत्तहदा में मुत्तफ़िक़ा तौर पर मंज़ूर

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की ताक़तवर सलामती कौंसल ने मुत्तफ़िक़ा तौर पर क़रारदाद मंज़ूर करली जिस के तहत मुबस्सिरीन की एक ग़ैर मुसल्लह टीम शाम रवाना की जाएगी ताकि मुल्क में मुसल्लह तशद्दुद का ख़ातमा करने की निगरानी की जा सके। क़रारदाद 8 ममालि

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की ताक़तवर सलामती कौंसल ने मुत्तफ़िक़ा तौर पर क़रारदाद मंज़ूर करली जिस के तहत मुबस्सिरीन की एक ग़ैर मुसल्लह टीम शाम रवाना की जाएगी ताकि मुल्क में मुसल्लह तशद्दुद का ख़ातमा करने की निगरानी की जा सके। क़रारदाद 8 ममालिक बिशमोल फ़्रांस, जर्मनी, बर्तानिया और अमरीका ने पेश की। 15 रुकनी सलामती कौंसल ने कहा था कि इस ने फ़ैसला किया है कि एक 30 ग़ैर मुसल्लह फ़ौजी मुबस्सिरीन फ़रीक़ैन के दरमयान झड़पों को रोकने के लिए रवाना किए जाऐंगे और मुसल्लह तशद्दुद की हर नौईयत के तमाम फ़रीक़ैन की जानिब से ख़ातमा के लिए जंग बंदी मुआहिदे पर भरपूर अमल आवरी करवाई जाएगी।

क़रारदाद में सदर शाम बशार अलासद मुतालिबा किया गया है कि हुकूमत शाम और अप्पोज़ीशन दोनों इस बात को यक़ीनी बनाईं कि मुबस्सिरीन की टीम अपना काम बह आसानी अंजाम दे सकें। क़रारदाद की ताईद में वोट देते हुए हिंदूस्तान ने कहा कि इस ने ऐसी तमाम कोशिशों की मुसलसल ताईद की है जिन के ज़रीया शाम के बोहरान की यकसूई होसके और शामी ज़ेर क़ियादत सयासी अमल जो तमाम तबक़ात की जायज़ उमंगों की तकमील करसके नाफ़िज़ किया जा सके। हिंदूस्तान के मुस्तक़िल नुमाइंदे बराए अक़वाम-ए-मुत्तहिदा हरदीप सिंह पूरी ने सलामती कौंसल से कहा कि वज़ीर-ए-ख़ारजा ऐस ऐम कृष्णा अक़वाम-ए-मुत्तहिदा । अरब लीग के मुशतर्का क़ासिद से मुलाक़ात करचुके हैं और उन्हें उन की मुहिम को हिंदूस्तान की ताईद से वाक़िफ़ करवा चुके हैं।

TOPPOPULARRECENT