Monday , October 23 2017
Home / India / शाम में इंसानी बोहरान,30हज़ार अफ़राद बेघर हो गए

शाम में इंसानी बोहरान,30हज़ार अफ़राद बेघर हो गए

शाम में जारी लड़ाईयों और बोहरान के बाइस तीस हज़ार ख़ानदान बेघर हो गए हैं अर मुक़ामी अफ़राद पार्कस‌ ,स्कूलस और मसाजिद में पनाह लेने पर मजबूर हो गए।

शाम में जारी लड़ाईयों और बोहरान के बाइस तीस हज़ार ख़ानदान बेघर हो गए हैं अर मुक़ामी अफ़राद पार्कस‌ ,स्कूलस और मसाजिद में पनाह लेने पर मजबूर हो गए।

शाम के दार-उल-हकूमत दमिशक़ में गुज़िश्ता कई हफ़्तों से सरकारी फ़ौजीयों और मुसल्लह बाग़ीयों के दरमयान झड़पों के बाइस मुक़ामी अफ़राद को बेपनाह मसाइल का सामना करना पड़ रहा है। मुल्क में ख़ौफ़-ओ-हिरास के बाइस कई अफ़राद ने पड़ोसी ममालिक में पनाह ले रखी है जबकि हज़ारों की तादाद में अफ़राद मस्जिदों ,स्कूलों और पार्कों में पनाह लेने पर मजबूर हैं।

पेचीदा सूरत-ए-हाल में मुक़ामी अफ़राद की मदद करना बैन-उल-अक़वामी इमदादी एजैंसीयों के लिए भी नाक़ाबिल-ए-यक़ीन हद मुश्किल काम है।फ़िलहाल शाम की हुकूमत भी सूरत-ए-हाल को कनट्रोल करने में नाकाम है।

TOPPOPULARRECENT