Tuesday , October 17 2017
Home / World / शाम में मुबस्सिरीन की आमद पर शदीद फायरिंग

शाम में मुबस्सिरीन की आमद पर शदीद फायरिंग

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के मुबस्सिरीन के शाम पहुंचने पर दार-उल-हकूमत दमिश्क़ और गुर्दो नवाह में शदीद फायरिंग हुई लेकिन तमाम मुबस्सिरीन महफ़ूज़ रहे। शामी हुकूमत और मुख़ालिफ़ीन के दरमयान फ़ायर बंदी के बावजूद फायरिंग और तशद्दुद के वाक़्यात

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के मुबस्सिरीन के शाम पहुंचने पर दार-उल-हकूमत दमिश्क़ और गुर्दो नवाह में शदीद फायरिंग हुई लेकिन तमाम मुबस्सिरीन महफ़ूज़ रहे। शामी हुकूमत और मुख़ालिफ़ीन के दरमयान फ़ायर बंदी के बावजूद फायरिंग और तशद्दुद के वाक़्यात जारी हैं, मुल्क के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में 32 अफ़राद हलाक हो गए।

अमेरीकी वज़ीर-ए-ख़ारजा हिलारी क्लिन्टन ने शाम की सूरत-ए-हाल पर तशवीश का इज़हार करते हुए कहा कि शामी सदर के पास अमन मंसूबे पर अमल करने का ये आख़िरी मौक़ा है। शाम में इंसानी हुक़ूक़ के कारकुनों का कहना है कि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के मुबस्सिरीन की आमद के बाद दमिश्क़ और क़ुर्ब-ओ-जुवार के इलाक़ों में शदीद फायरिंग की गई।

ताहम इस फायरिंग में तमाम मुबस्सिरीन महफ़ूज़ रहे। मुबस्सिर मिशन के सरबराह कोफ़ी अन्नान के तर्जुमान अहमद फ़ौज़ी ने भी तस्दीक़ की कि फायरिंग के वक़्त मुबस्सिरीन अलारबईन के इलाक़े में मौजूद थे। उन्होंने कहा कि अगर इस बात की तस्दीक़ हो गई कि ये फायरिंग शामी फ़ोर्सेज़ ने की है तो उसे एक होलनाक अमल क़रार दिया जाएगा।

इंसानी हुक़ूक़ के कारकुनों की जानिब से इनटरनेट पर भेजी जाने वाली वीडीयो क्लिपिंग्स और तसावीर में दिखाया गया है कि हुकूमत मुख़ालिफ़ मुज़ाहिरीन निशाना बाज़ों की गोलीयों से बचने के लिए घुटनों के बल झुके हुए हैं जबकि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की गाड़ीयों की तरफ़ लोगों का हुजूम है।

TOPPOPULARRECENT