Monday , August 21 2017
Home / Khaas Khabar / शिवपाल ने पार्टी से निकाला, अखिलेश ने दी वाई-सिक्यूरिटी

शिवपाल ने पार्टी से निकाला, अखिलेश ने दी वाई-सिक्यूरिटी

फैसल फरीद

लखनऊ: एक आश्चर्यजनक फैसले में उत्तर प्रदेश सरकार ने कथित तौर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पांच समर्थकों जो समाजवादी पार्टी में हाल ही में राजनीतिक तकरार के दौरान उसके साथ खड़ा करने के लिए वाई-केटेगरी सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला किया है।

वाई-केटेगरी की सुरक्षा उन व्यक्तियों को दी जाती है जिनके जीवन को गंभीर खतरा होता है। लेकिन इस निर्णय के परिणाम इससे कहीं ज्यादा हैं क्योंकि यह सुरक्षा उन लोगों को प्रदान की गयी है जिन्होंने शिवपाल को ललकारा था और अखिलेश का साथ दिया था।

जिन लोगों को सुरक्षा कवर दिया जाएगा उनमें दो विधान परिषद के सदस्य, एक विधायक और दो युवा नेताओं जिनके पास वर्तमान में पार्टी या सरकार में कोई पद नहीं है शामिल हैं। इनमें विधान परिषद के दो सदस्य राकेश यादव और अरविंद यादव हैं। दिलचस्प बात यह है कि अरविंद को शिवपाल ने पार्टी से निष्कासित कर दिया है। अरविंद सपा नेता रामगोपाल यादव का भतीजा है। इनमें एक विधायक राजकुमार यादव जो मैनपुरी विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है वह भी शामिल किया गया है। राजकुमार रामगोपाल के करीबी है और यहां तक कि पार्टी में कलह दौरान रामगोपाल के समर्थन में उन्होंने एक पत्र भी लिखा है।

दो युवा नेताओं में देवरिया के पी डी तिवारी और मेरठ के अतुल प्रधान शामिल हैं। प्रधान पहले सपा की छात्र शाखा के प्रदेश अध्यक्ष थे और उनकी पत्नी सीमा प्रधान मेरठ जिला पंचायत की अध्यक्ष है। दोनों अखिलेश के करीब हैं और उनके पक्ष में पार्टी के पद से इस्तीफा दे चुके हैं।

वाई श्रेणी के सुरक्षा कवर में एक व्यक्ति को एक एस्कॉर्ट जिप्सी और दो सब-इंस्पेक्टर सहित 11 सुरक्षा कर्मी मिलते हैं।

अखिलेश के इस कदम से शिवपाल खेमे के प्रभावित होने की सम्भावना है। इससे पहले अखिलेश ने मंत्री पवन पांडे को बर्खास्त करने की शिवपाल की मांग को नजरअंदाज कर दिया था और पांडे अभी भी पार्टी से बर्खास्त होने के बावजूद मंत्री है।

TOPPOPULARRECENT