Wednesday , June 28 2017
Home / India / शिवराज के राज में जारी किसानों का आंदोलन, भैसों को सड़कों पर उतार किया चक्काजाम

शिवराज के राज में जारी किसानों का आंदोलन, भैसों को सड़कों पर उतार किया चक्काजाम

भोपाल-खुद को किसान पुत्र कहने वाले शिवराज सिंह के राज में किसान आंदोलन कर रहे हैं । किसानों का आंदोलन तीन दिन से जारी है ।
शनिवार को नेशनल हाइवे-7 पर जबलपुर के डेयरी संचालक भैंसों के साथ आ डटे, इससे चक्काजाम हो गया। सड़कों पर हंगामा कर रहे किसानों को मौके से भगाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज किया।

किसानों की हड़ताल से सबसे ज़्यादा प्रभावित इंदौर है । यहां किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन जारी रखे हुए हैं । प्रशासन ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के मकसद से 40 से ज्यादा लोगों को हिरासत में ले लिया है।

मध्यप्रदेश में महाराष्ट्र की सीमा से लगे पश्चिमी हिस्सों के साथ ही मालवांचल में पिछले तीन दिनों से किसानों का आंदोलन जारी है, आंदोलन के मद्देनज़र संबंधित जिला प्रशासनों को सतर्क रहने और कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं।

धार, रतलाम, इंदौर, उज्जैन, राजगढ़, आगरमालवा, शाजापुर और मालवांचल के अन्य जिलों में किसानों के आंदोलन के बीच कुछ स्थानों पर सड़क पर दूध बहाया और सब्जियों की आपूर्ति रोक दी थी। इसके बाद राज्य सरकार ने संबंधित जिला प्रशासन से एहतियातन सभी आवश्यक उपाय करने तथा कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए और अधिक सतर्क रहने को कहा है ।

शहरों में तीसरे दिन दूध, फल और सब्जियों के दाम बढ़ गए हैं । प्रदेश के कुछ शहरों में एहतियातन अतिरिक्त पुलिस बल के साथ ही त्वरित कार्य बल (आरएएफ) के जवानों को भी तैनात किया गया है। पुलिस सूत्रों ने कहा कि किसानों द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर प्रदेश के सभी पुलिस थाने सचेत हो गए हैं।

भारतीय किसान सेना के जगदीश रावलिया के अनुसार वे पूर्व निर्धारित योजना अनुसार 1 जून से 10 जून तक लगातार विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि फल, सब्जी और दुग्ध व्यवसाय से जुड़े किसानों को न्यूनतम निर्धारित मूल्य बढ़ाने और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करवाने की मुख्य मांग को लेकर यह आंदोलन किया जा रहा है। इसके साथ ही किसान चना, गेंहूं, सोयाबीन और समस्त दालों का समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT